Patrika Hindi News

> > > > UP Govt Hausla Poshan scheme in worst condition

टूटने लगा है सीएम अखिलेश का 'हौसला'

Updated: IST Hausla Poshan scheme
प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव द्वारा गर्भवती महिलाओं और कुपोषित बच्चों को सहारा देने के लिए लॉन्च किया गया हौसला पोषण मिशन दम तोड़ता नजर आ रहा है

झांसी. प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव द्वारा गर्भवती महिलाओं और कुपोषित बच्चों को सहारा देने के लिए लॉन्च किया गया हौसला पोषण मिशन दम तोड़ता नजर आ रहा है। अफसरों के गोद लिए गांवों में ही इसका बुरा हाल है, तो अन्य स्थानों पर इसकी स्थिति का अंदाजा सहज ही लगाया जा सकता है। इस मिशन के क्रियांवयन में गड़बड़ी सामने आने पर इससे जुड़े अधिकारियों से जवाब तलब किया गया है।

मुख्य विकास अधिकारी के गोद लिए गांव में ये है हाल

प्रदेश भर में लागू किए गए हौसला पोषण मिशन के तहत जिले के मोंठ विकासखंड के भुजौंद गांव को मुख्य विकास अधिकारी ने गोद लिया था। इसमें गर्भवती महिलाओं और कुपोषित बच्चों को पौष्टिक आहार मुहैया कराना जाना था। इस गांव में हौसला पोषण मिशन की हकीकत मुख्य विकास अधिकारी नवनीत सिंह चहल के निरीक्षण के दौरान सामने आ गई। इसमें पाया गया कि भुजौंद में न तो बच्चों का वजन लिया जा रहा है और न ही नियमित रूप से पौष्टिक आहार परोसा जा रहा है। यह स्थिति सामने आने पर मुख्य विकास अधिकारी ने अधीनस्थों पर कार्रवाई के निर्देश दिए।

इन अधिकारियों पर दिए गए कार्रवाई के निर्देश

सीडीओ नवनीत सिंह चहल ने भुजौंद गांव में हौसला पोषण मिशन में अनियमितता पाए जाने पर इसके लिए जिम्मेदारों पर कार्रवाई के निर्देश दिए। इसमें पौष्टिक आहार वितरण में अनियमितता पाए जाने पर जिला कार्यक्रम अधिकारी करुणा जायसवाल को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। इसके साथ ही आंगनबाड़ी कार्यकर्ती भगवती और मुख्य सेविका जयकुंवर के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई के निर्देश दिए गए। इस कार्रवाई के दायरे में बाल विकास परियोजना अधिकारी मोंठ सुषमा को भी लिया गया। मुख्य विकास अधिकरी ने बाल विकास परियोजना अधिकारी का सितंबर माह का वेतन रोकने के आदेश जारी कर दिए। सीडीओ के गोद लिए गांव में यह गड़बड़ी सामने आने पर अब अन्य गांवों में भी व्यापक पैमाने पर निरीक्षण किए जाने की संभावनाएं बढ़ गई हैं।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे