Patrika Hindi News

CM के जिले की सड़के बदहाल, ऐसे में आखिर कैसे होगा वनांचल क्षेत्रों का विकास

Updated: IST road become shabby
प्रदेश के भाजपा सरकार को तेरह वर्ष पूर्ण होने को है, लेकिन मुख्यमंत्री के गृह जिले में विकास की गाथा लिखने वाली सड़कें ही बदहाल हो चुकी है। यहां की सड़क से गुजरना मतलब जान जोखिम में लेकर सफर करना हो गया है

कबीरधाम. प्रदेश के भाजपा सरकार को तेरह वर्ष पूर्ण होने को है, लेकिन मुख्यमंत्री के गृह जिले में विकास की गाथा लिखने वाली सड़कें ही बदहाल हो चुकी है। यहां की सड़क से गुजरना मतलब जान जोखिम में लेकर सफर करना हो गया है।

वनांचल गांव रेंगाखार को प्रदेश सरकार विकास की गति देने के लिए ब्लाक मुख्यालय बनाने पर विचार कर रही है। लेकिन ब्लाक मुख्यालय पहुंचने वाली सड़क अत्यधिक जर्जर हो चुकी है। लोहारा से रेंगाखार जाने वाले मार्ग से डामर गायब ही हो चुके हैं, क्योंकि सड़क का निर्माण आठ वर्ष पहले हुआ था। गांरटी खत्म होते ही सड़क ही गायब हो गया, लेकिन यहां झाकने वाला कोई नहीं है। रेंगाखार के रामसूख, परमानंद बघेल, चैतराम निषाद व रामचंद धूर्वे से इस सड़क पर चर्चा किया गया तो उनका कहना था कि वनांचल गांव के नाम पर सरकार योजना बना तो रही है, लेकिन लाभ उन्हीं के लोग ले रहे हैं। सड़क के नाम पर लाखों रुपए ठेकेदार व विभाग के अधिकारियों ने कमा लिए, लेकिन वनांचल के लोगों को कुछ भी नहीं मिला। वहीं उनका कहना है घटिया निर्माण करने वाले को सह दिया जा रहा है। ऐसा ही चलता रहा तो वनंाचल गांव का विकास कैसे संभव होगा।

डामर नहीं केवल पत्थर
लोहारा से रेंगाखार जाने वाली मुख्यमार्ग पर आठ वर्ष पहले ही डामरीकरण किया गया था। आज की स्थिति में यहां डामर दिखाई ही नहीं देता। दिखाई देते हैं तो सिर्फ पत्थर। पत्थर होने के कारण लोगों को इस मार्ग से गुजरने में परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इसी प्रकार चिल्फी से रेंगाखार जाने वाला मार्ग भी जर्जर हो चुका है। लेकिन मरम्मत पर कोई ध्यान नहीं दिया जाता।

दो विभागों की सड़कें
लोहारा से रेंगाखार जाने वाले मार्ग पर दो विभाग की सड़क आता है। लोहारा से बानो तक चार किमी की सड़क प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना क्रमांक-2 की है। वहीं बानो से रेंगाखार तक की सड़क लोक निर्माण विभाग का है। प्रधानमंत्री सड़क का निर्माण आठ साल पहले हुआ है। आज की स्थिति में यहां तक की सड़क जर्जर हो चुका है। वहीं लोक निर्माण विभाग से बने सड़क से भी डामर गायब हो चुके हंै।

कबीरधाम प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना क्रमांक -2 के ईई एमकेरात्रे ने बताया कि लोहारा से बानो तक की सड़क प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की है। सड़क निर्माण आठ वर्ष पहले हुआ था। मरमत के लिए प्रस्ताव भेजा गया है। जल्द ही निर्माण कराया जाएगा।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???