Patrika Hindi News

किसान के बेटों ने बनाई टॉप 10 में जगह, जानिए सफलता की कहानी और लक्ष्य

Updated: IST Chhattisgarh board result toppers interview
कांकेर के दो छात्रों ने सीजी के 10वीं परीक्षा में टॉप 10 में जगह बनाकर जिले का मान बढ़ाया। दोनों टॉपर्स ने अपनी सफलता के टिप्स शेयर किए।

कांकेर. यदि मन में जज्बा हो कुछ कर गुजरने का तो कोई परिस्थिति उसे टाल नहीं सकती। आंधी हो या तूफान उस युवा का पग डिगा नहीं सकता। ऐसा ही कुछ कर दिखाया है कांकेर के दो छात्रों ने, जिन्होंने कक्षा 10वीं बोर्ड परीक्षा में टॉप टेन में अपनी जगह बनाई है।

Read More: CG Board Class 10 Results: CGBSE ने 10वीं क्लास के रिजल्ट घोषित किए

धुर नक्सली क्षेत्र पीव्ही 100 के रहने वाले परन बराई के बेटे राहुल बराई ने प्रदेश में सातवां स्थान प्राप्त किया है। सरकारी हाईस्कूल गोंडाहुर में पढऩे वाले राहुल बराई अब आगे डॉक्टर बनने की इच्छा रखते हैं और उन्हें ही नहीं उनके पिता को भी पूरा विश्वास है कि वह एक दिन डॉक्टर बनकर आमजन की सेवा करेगा।

Read More: 50 मिनट पहले लीक हो गया CG 10वीं का रिजल्ट, मंत्री ने दिए जांच के आदेश

पत्रिका से बातचीत में राहुल बराई ने बताया कि परिस्थितियां चाहे जो भी हो यदि मन में उल्लास है तो मंजिल आसान हो जाती है। कोई भी कार्य दुनिया में मुश्किल नहीं है। हां, यह जरूर है कि करने वाले का उस कार्य में मन लगना चाहिए।

Read More: CG 10th Board टॉपर चेतन ने शेयर किया सक्सेस मंत्र, मंत्री ने फोन पर दी बधाई

उनके पिता एक सामान्य किसान के साथ ही एक किराने की दुकान चलाते हैं। उस दुकान में भी राहुल हर वक्त हाथ बंटाता है। इसके साथ ही वह अपनी पढ़ाई भी समय से पूरा करता था। घर में पढ़ाई का कोई माहौल न होने के बावजूद पिता हमेशा पढ़ाई के लिए प्रेरित करते रहते थे। राहुल के पिता का कहना है कि मैं हमेशा उसे पढ़ाई के लिए प्रेरित करने के साथ ही घर के कामों की कठिनाइयों को बताता रहता था।

Read More: CG Board: धमतरी के चेतन रहे अव्वल, रायपुर के दो छात्र टॉप टेन में शामिल

इंजीनियर बनकर करना चाहता है देश सेवा

चारामा के एक छोटे से गांव में रहने वाले किसान परशुराम के बेटे उदित कुमार अपने गांव गिरौला में रहकर वहीं पढ़ाई करने के बावजूद पूरे प्रदेश में 10वीं रैंक पर आया है। यह खबर सुनते ही पूरे क्षेत्र में खुशी का माहौल दौड़ गया लेकिन उदित कुमार को इसके बारे में पहले से ही विश्वास था। उसने बताया कि यह प्रश्र पत्र हल करने के बाद ही पता चल गया था कि प्रदेश में कोई स्थान जरूर रहेगा।

Rear More: #CG10Result: छत्तीसगढ़ के 27 होनहार छात्र, जो टॉप 10 में हुए शामिल

उदित कुमार ने पत्रिका से बात करते हुए कहा कि आगे हम इंजीनियरिंग की तैयारी के हिसाब से हायर सेंकेंड्री की परीक्षा देंगे और मैथ्स हमारे लिए अच्छा विषय है। उसी का चयन करेंगे। उनके पिता परशुराम ने बताया कि बेटा हमेशा खेती में भी हाथ बटाता रहा लेकिन पढ़ाई में कभी मैंने व्यवधान आने नहीं दिया।

Read More: बिलासपुर की विनिता ने दसवीं बोर्ड परीक्षा में मारी बाजी, राज्य में दूसरे स्थान पर रही

उन्होंने कहा कि आगे की पढ़ाई बेटे के मन के हिसाब से ही कराऊंगा। वह जो भी करना चाहे, यह उसकी स्वतंत्रता है। परिवार उसकी पढ़ाई में हमेशा सहयोग करने की स्थिति में रहेगा और उसका मार्ग दर्शन करते रहेंगे।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???