Patrika Hindi News

> > > > Women shopping for Karwa Chauth 2016 Puja Vrat News in Hindi

UP Election 2017

महंगाई को दरकिनार कर महिलाओं ने की करवाचौथ की खरीदारी 

Updated: IST Karwa Chauth
इस बार करवाचौथ का पर्व बुधवार को पड़ने से सुहागिनों पर गणेश व श्रीकृष्ण देवताओं की कृपा बरसेगी।

कन्नौज।इस बार करवाचौथ का पर्व बुधवार को पड़ने से सुहागिनों पर गणेश व श्रीकृष्ण देवताओं की कृपा बरसेगी। ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक यह संयोग 100 साल बाद पड़ा रहा है। जब करवाचौथ का व्रत के दिन बुधवार को कार्तिक मास में रोहिणी नक्षत्र है। हर बार की तरह इस बार भी पति की लंबी उम्र की कामना के लिए महिलाएं व्रत रखेंगी।

लेकिन इस बार बाजार में मंहगाई की मार दिखाई दी लेकिन इसके बावजूद भी कुछ अलग करने की कोशिश में महिलाएं देर शाम तक बाजार में खरीदारी करती रहीं। उधर, ब्यूटी पार्लर और सौंदर्य प्रसाधन की दुकानों पर मेहंदी लगवाने की होड़ लगी रही। सर्राफा दुकानों पर भी महिलाएं नजर आईं। पूजन सामग्री के लिए लइया, चूरा, गट्टा, करवा आदि की खूब खरीदारी हुई। करवाचौथ को लेकर स्टेशन रोड पर आधा दर्जन पूजा सामग्री की दुकानों पर काफी भीड़ नजर आई। लेकिन साल दर साल महंगाई बढ़ने का असर इस बार भी दिखाई पड़ रहा है। बीस फीसद तक सामान महंगा हुआ है।

पूजा सामग्री रेट (प्रति किलो ग्राम)

गट्टा 60 से 100 रुपये

चूरा 40 से 100 रुपये

इलायची दाना 60 रुपये

गटिया 70 रुपये

करवा 20 से 30 रुपये

कैलेंडर पांच से 20 रुपये

सींक दो रुपये

पूजा की किताब 15 रुपये

100 साल बाद है यह अदभुत संयोग

करवाचौथ का पर्व बुधवार को पड़ने से सुहागिनों पर गणेश व श्रीकृष्ण देवताओं की कृपा बरसेगी। ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक यह संयोग 100 साल बाद पड़ा रहा है। जब करवाचौथ का व्रत के दिन बुधवार को कार्तिक मास में रोहिणी नक्षत्र है। इसी दिन चन्द्रमा अपने रोहिणी नक्षत्र में रहेगा और बुध अपनी कन्या राशि में रहेगा।

जबकि इस दिन ही गणेश चतुर्थी और श्रीकष्ण जन्माष्टमी होती है। यह संयोग 100 साल में एक बार आता है। इस संयोगवश दोनों देवताओं की कृपा सुहागिन महिलाओं को मिलेगी। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार बुधवार की रात 8.20 बजे पर चन्द्र दर्शन होंगे। जिसके बाद महिलाएं अपना पूजा-पाठ की शुरुआत कर सकती है।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???