Patrika Hindi News
UP Scam

बर्फीले हवाओं का कहर, जम्मू से भी ठंडा कानपुर

Updated: IST cold weather
ठंड के चलते पारा अपने सबाब पर है। भीषण गलन से लोगों के हाथ पैर सुन्न हो गए हैं, दांत किटकिटाने लगे हैं

कानपुर. ठंड के चलते पारा अपने सबाब पर है। भीषण गलन से लोगों के हाथ पैर सुन्न हो गए हैं, दांत किटकिटाने लगे हैं। ठंड़ के चलते एक दर्जन लोगों की मौत हो गई है, तो वहीं परिंदे भी प्राण त्याग रहे हैं। बावजूद प्रशासन हाथ पर हाथ रखे बैठा है। शहर के तमाम रैनबसेरों में स्थानीय लोग कब्जा किए हैं तो कईयों में ताले लटक रहे हैं। इसके चलते बाहर से आए दिहाड़ी मजदूर, रिक्शा चालक और अस्पताल में मरीजों के साथ आए तीमारदार खुले में रात बिताने को विवश हैं। अगर यही हालात रहे तो सर्दी से मौतों को गिनना मुश्किल हो जाएगा। 7.2 किलो मीटर प्रति घंटा रफ्तार से चलने वाली बर्फीली हवाओं ने सर्दी के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए। मौसम विभाग की माने तो शुक्रवार की रात सबसे ज्यादा सर्दी पड़ी है।

शुक्रवार तड़के कानपुर शहर का मौसम जम्मू से भी ठंडा रहा। न्यूनतम पारा 1.4 डिग्री सेल्सियस जा पहुंचा। जम्मू में न्यूनतम पारा 3.1 डिग्री सेल्सियस रहा। कानपुर में 24 घंटे पहले न्यूनतम पारा 2 डिग्री सेल्सियस था। मौसम साइमटिस्ट अनरुद्व दुबे ने बताया कि उत्तराखंड की बर्फीली उत्तर- पश्चिम की हवाओं के कारण ऐसा हो रहा है। अभी 20 जनवरी तक ऐसा ही मौसम रहने का अनुमान है।

20 तक सर्दी का जारी रहेगा सितम

उत्तराखंड में बर्फबारी का जबरदस्त असर मैदानी क्षेत्रों पर पड़ रहा है। शुक्रवार को न्यूनतम पारा सामान्य से करीब 10 डिग्री सेल्सियस नीचे चला गया। जो पारा 11.4 डिग्री होना चाहिए था, वह 1.4 पर आ गया। जबरदस्त गलन के कारण जनजीवन अस्त-व्यस्त रहा। लोग अपने घरों में दुबके नजर आए। अधिकतम पारा 17.6 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया, जो सामान्य से करीब 3 डिग्री कम है। सामान्य पारा 20.6 डिग्री होता है। वरिष्ठ मौसम विज्ञानी डॉ. अनिरुद्ध दुबे ने बताया कि 20 जनवरी तक सर्दी का सितम जारी रहेगा। रात की सर्दी और बढ़ सकती है। वातावरण में सुबह की नमी 90 फीसदी और दोपहर की नमी 41 फीसदी रही। पछुआ हवाओं की गति सामान्य से दो किमी प्रतिघंटा ज्यादा रही। हवा की सामान्य गति एक किलोमीटर प्रतिघंटा होनी चाहिए। इसी वजह से कानपुर नगर और कानपुर देहात सहित सेंट्रल यूपी के अन्य जिलों में गलन महसूस की गई। रात में कंपकंपी छूटी, हाथ-पैर सुन्न से हो गए।

26 जनवरी को साफ रहेगा मौसम

ग्रीनपार्क स्टेडियम में 26 जनवरी को भारत और इंग्लैंड के बीच खेले जाने वाले टी-20 क्रिकेट मैच के दौरान आसमान साफ रह सकता है। इसके फोरकॉस्ट मौसम विज्ञान विभाग ने जारी किए हैं। वरिष्ठ मौसम विज्ञानी डॉ. अनिरुद्ध दुबे का कहना है कि पछुआ हवाओं की दिशा बदलते ही सर्दी से राहत मिलेगी। डॉक्टर दुबे के मुताबिक बर्फीली हवाओं के चलते खेतों में खड़ी फसल में जबरदस्त प्रभाव पड़ रहा है। आलू, मटर, सरसों और चना पाले के तलते बर्बाद हो रहे हैं।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???