Patrika Hindi News
UP Scam

हिस्ट्रीशीटर इजराइल को कचहरी से उठा ले गई कानपुर पुलिस, पत्नी चार दिन से खोजती रही

Updated: IST police
पिछले दिनों भरी कचहरी में उस वक्त अफरा-तफरी मच गई, जब आधा दर्जन पुलिस वाले पेशी पर आए एक हिस्ट्रीशीटर को उठा ले गए। इससे कुछ देर के लिए कचहरी में अफरा-तफरी मच गई।

कानपुर. पिछले दिनों भरी कचहरी में उस वक्त अफरा-तफरी मच गई, जब आधा दर्जन पुलिस वाले पेशी पर आए एक हिस्ट्रीशीटर को उठा ले गए। इससे कुछ देर के लिए कचहरी में अफरा-तफरी मच गई। हिस्ट्रीशीटर के साथ आए परिजनों ने जब विरोध किया तो उन्होंने उन्हें जेल भेजने की धमकी देकर भगा दिया। परिजन उसकी खोज खबर के लिए थाने गए पर, वहां से उन्हें कोई जानकारी नहीं मिली। इसके बाद सोमवार को सैकड़ों लोगों के साथ वह एसएसपी का घेराव कर लिया। मामला बिगड़ता देख पुलिस ने युवक के बारे में जानकारी दी। एसपी कंट्रोल रूम राजेश कुमार ने बताया कि वह शातिर अपराधी है। उसे कस्टडी में लेकर एक मामले पर पूछताछ की जा रही है। मंगलवार को पुलिस उसे कोर्ट में पेश करेगी। वहीं अधिवक्ता राजू सक्सेना के मुताबिक किसी भी व्यक्ति को पुलिस 24 घंटे से ज्यादा तक हिरासत में नही रख सकती।

तारीख पर आया था इजराइल
बजरिया थाना क्षेत्र का इसराइल उर्फ इसराइल आंटे वाला एक अपराधी है, जिसके खिलाफ कई आपराधिक मामले चल रहे हैं। वह जमानत पर जेल से बाहर है। इसराइल आंटे वाला की पत्नी का कहना है कि 17 तारीख को उसकी एक मुकदमे में कानपुर कोर्ट में तारीख थी। इसराइल आंटे वाला कोर्ट से निकल कर जैसे ही बाहर आया, तभी बीच सड़क पर कुछ लोग आये और उसे जबरन कार में बैठाकर ले गए। उसके बाद उसका फोन स्वीच ऑफ हो गया। पत्नी का आरोप है कि पुलिस उसके पति को फिर किसी फर्जी मुकदमे में फंसाना चाह रही है।

आईजी, डीआईजी और एसएसपी से की फरियाद
इजराइल की पत्नी के मुताबिक हमारा पूरा परिवार आईजी, डीआईजी, एसएसपी के ऑफिस के लगातार चक्कर लगाता रहा, लेकिन वहां हमारी फरियाद किसी ने नहीं सुनी। इतना ही नहीं, हम बजरिया थाने गए पर वहां भी हमें गुमराह किया गया। जब हमारी बात किसी ने नहीं सुनी तो हमने एसएसपी ऑफिस का घेराव किया, तब जाकर पुलिस ने परिवार को बताया कि इसराइल आंटे वाला रेल बाजार थाने की पुलिस की कस्टडी में है और इन्वेस्टिगेशन चल रहा है।

पुलिस बनाती है अपराधी
इसराइल के पिता मोहम्मद फैज का आरोप है कि पुलिस के चलते बेटा अपराधी बना। उस पर पुलिस ने पहले फर्जी मुकदमे दर्ज कर जेल भेजा। जमानत के बाद जब वह बाहर आया तो पुलिसवाले अक्सर घर आकर उसे परेशान करते थे। बेटा अपराध छोड़कर अपनी जिन्दगी काट रहा है, लेकिन पुलिसवाले उसे फिर जेल भेजने के चलते जबरन उठा ले गए। पिता के मुताबिक पुलिस ने बेटे के बारे में जानकारी दे दी है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???