Patrika Hindi News

Video Icon नाना साहब के सैनिक अंग्रेजों से बचने के लिए इन्ही सुरंगों के जरिए पहुंचते थे बिठूर

Updated: IST knapur
उर्सला अस्पताल परिसर में 20 फिट गहरी सुरंग मिलने से हड़कंप मच गया।

कानपुर। उर्सला अस्पताल परिसर में 20 फिट गहरी सुरंग मिलने से हड़कंप मच गया। अस्पताल प्रशासन ने जानकारी मिलते ही मौके पर जाकर हकीकत जानी और इसकी सूचना पुरातत्व विभाग को दी। पुरातत्व के अधिकारियों ने उर्सला में चल रही खुदाई का काम रुकवा दिया और जांच की। जांच में पता चला कि यह सुंरग लगभग दो सौ साल पुरानी हो सकती है। इतिहासकार मनोज अग्रवाल भी मौके पर पहुंचे और उन्होंने बताया कि नानाराव पेशवा ने अंग्रेज फौज से बचने के लिए शहर में दो दर्जन से ज्यादा सुरंगों का निर्माण कराया था। एक ऐसी ही सुंरग नवाबगंज से लेकर बिठूर तक है। पेशवा ने यह सुरंग अपनी बेटी मैना और लक्ष्मीबाई के लिए बनवाई थी। वह अक्सर इसी सुरंग के रास्ते बिठूर से शिव मंदिर पूजा अर्चना करने आया करती थीं।

knapur

ब्रिटिश सरकार ने सिविल अस्पताल का निर्माण ब्रिटिश सरकार ने कराया था। उर्सला ओल्ड बिल्डिंग परिसर में नगर निगम ने सड़क बनवाने के लिए मेनगेट के अंदर रैनबसेरा के पास जेसीबी से खुदाई शुरू कराई। खुदाई के दौरान वहां पड़ा पत्थर और मलबा हटाते ही नीचे करीब 20 फीट गहरा गड्ढा नजर आया। वहां काम करा रहे नगर निगम के सुपरवाइजर मनोज कुमार ने बताया कि सुरंग में नीचे उतरने के लिए सपोर्टर लगे थे। अंदर पुराने ईंटों ने बना रास्ता और एक दरवाजा नजर आ रहा था। काम रुकवाकर अफसरों को सूचना दी। उर्सला के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. संजीव कुमार सहित अन्य डॉक्टर, कर्मचारी और तीमारदारों सहित तमाम लोग वहां सुरंग देखने पहुंचे। इससे वहां भीड़ लग गई। कोतवाली पुलिस भी मौके पर पहुंची। पुलिस ने लोगों को हटाया। इसी बीच नगर निगम कर्मचारी गड्ढे में मलवा डलवाने लगे तो मुख्य चिकित्सा अधीक्षक ने उन्हें ऐसा करने से रोक दिया। कुछ लोगों ने अंदर जाकर पड़ताल करने के लिए कहा तो अस्पताल प्रशासन ने अंदर अंधेरा और जहरीली गैस होने की आशंका के मद्देनजर उन्हें ऐसा करने से रोक दिया।

knapur

उर्सला के अवर अभियंता जेपी सक्सेना का मानना है कि अंग्रेजों के जमाने में वहां नाला रहा होगा और गंगा की तरफ से बाढ़ के पानी को रोकने के लिए फाटक लगा होगा। जबकि इस अस्पताल के पुराने कर्मचारियों का कहना है कि पहले वहां कुंआ था, जो बाद में पाट दिया गया था। सुरंग ऊपर से कुंए की तरह चौड़ी नजर आ रही उर्सला के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. संजीव कुमार ने बताया कि सुरंग ऊपर से कुंए की तरह चौड़ी नजर आ रही है। उसमें नीचे उतरने के लिए सपोर्टर लगे हैं। नीचे सुरंग परेड की तरफ मुड़ी है और उस तरफ एक दरवाजा सा नजर आ रहा है। फिलहाल खुदाई रुकवा दी गई है।

knapur

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???