Patrika Hindi News
UP Scam

फूंस के बंगले में आग लगने से अधेड़ महिला की जिंदा जलकर मौत

Updated: IST kanpur
गरीबी के आलम में फूंस के बंगले में जिंदगी गुजार रही अधेड़ महिला के लिये उसका आशियाना ही मौत का सामान बन गया

कानपुर देहात. गरीबी के आलम में फूंस के बंगले में जिंदगी गुजार रही अधेड़ महिला के लिये उसका आशियाना ही मौत का सामान बन गया। घटना सिकन्दरा कस्बा के आजाद नगर मोहल्ले की है। जहां बीती रात वह अपने फूंस के बंगले में खाना खाने के बाद लेट गयी। बताया गया कि अचानक बंगले में आग लग गयी। देखते ही देखते आग की लपटे तेज देख आस पड़ोस के लोग दौड़े और आग बुझाने की कोशिश की, लेकिन तब तक आग के विकराल रूप ने महिला को अपनी चपेट में ले लिया और वह जिंदा जलने लगी। उसकी चीख पुकार की आवाजें दूर-दूर तक जा रही थी, लेकिन आग के अंदर घुसकर उसको बचाने वाला वहां कोई मौजूद नहीं था। जबकि कस्बा में फायर स्टेशन भी है, लेकिन लाचार महिला की जिंदगी बचाने में सब नाकाम साबित हुआ और उसकी मौके पर ही मौत हो गयी।

सिकन्दरा के आजाद नगर में उमेश अपने भाइयों दिनेश, विनय व आकाश के साथ कच्चे मकान में लेटे थे। उनके समीप ही फूंस की झोपड़ी में उनकी 50 वर्षीय मां लाडली देवी व नानी चंदनिया सो रही थी। रात करीब 2 बजकर 30 मिनट पर संदिग्ध स्थितियों झोपडी में आग लग गयी और वह धू धू कर जलने लगी। आग की तेज लपटे देख उमेश व दिनेश झोपड़ी की तरफ भागे और मां व नानी को निकालने का प्रयास किया। पहले उन्होंने झोपड़ी में बाहर की तरफ लेटी नानी को बाहर निकाल लिया। इस बीच जलता हुआ छप्पर गिरने से उनकी मां नीचे दब गयी। मां की चीख पुकार सुन दौड़े मोहल्ले के लोग करीब आधे घंटे की कडी मशक्कत के बाद आग पर काबू पा सके, लेकिन तब तक महिला की जलकर मौत हो गयी और सारा ग्रह्स्थी का सामान जलकर राख हो गया। थानाध्यक्ष सिकन्दरा विकास राय पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे और शव कब्जे में लेकर घटना की छानबीन शुरू की।

kanpur

थानाध्यक्ष विकास राय ने बताया कि परिजनों ने झोपड़ी में रखे दीपक के गिरने से झोपड़ी में आग लगने की सम्भावना जताई है। उप जिलाधिकारी सियाराम मौर्य ने बताया कि राजस्व कर्मियों से क्षति का आंकलन कराने के बाद पीड़ित परिवार को मदद मुहैया कराई जायेगी।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???