Patrika Hindi News

> > > > katni dengue outbreaks

डेंगू का डंक: बीच शहर में पनप रहा था डेंगू का लार्वा

Updated: IST dengue,dengue larv
पूर्व मंत्री से लेकर अधिकारी के घर में मिला लार्वा, कटनी के हर दूसरे घर में मिल रहा एडीज मच्छर का लार्वा, सकते में स्वास्थ्य विभाग, दहशत में लोग

कटनी। अभी तक कटनी शहर के बाहरी हिस्सों याने कि उपनगरीय क्षेत्र में डेंगू का लार्वा पनप रहा था, लेकिन शुक्रवार को शहर में हुए सर्वे ने स्वास्थ्य विभाग की नींद गायब कर दी है। शहर का हृदय स्थल कहे जाने वाले सुभाष चौक से चंद कदम की दूरी पर स्थित कोतवाली थाने में डेंगू का लार्वा पनप रहा था। जिला मलेरिया अधिकारी शालिनी नामदेव, मलेरिया इंस्पेक्टर पीके महार द्वारा किए गए सर्वे से हुआ खुलासा हुआ। टीम ने पनप रहे एडीज मच्छर के लार्वे को नष्ट कराया। उल्लेखनीय है कि कटनी में अभी तक में 22 डेंगू के मरीज सामने आ चुके हैं। लगातार बढ़ रही मरीजों की संख्या से स्वास्थ्य विभाग सकते में है तो वहीं लोगों में दहशत देखी जा रही है।

हर जगह मिल रहा डेंगू

जानकारी अनुसार शहर में भारी मात्रा में डेंगू का लार्वा मिल रहा है। सबसे ज्यादा लार्वा कूलर, खाली पड़े कंटेनर, गमलों में पाए जा रहे हैं। लोगों की जागरुकता में कमी के कारण शहर में बीमारी पैर पसार रही है। शहर में लगभग हर दूसरे घर में डेंगू का लार्वा मिल रहा है। शुक्रवार को खिरहनी फाटक में टीम द्वारा 23 घरो का सर्वे किया गया। सर्वे में 11 घरों में एडीज मछर के लार्वा पाए गए। टीम ने जिसे नष्ट किया है। सवे्र के दौरान जिला मलेरिया अधिकारी शालिनी नामदेव, मलेरिया निरीक्षक पीके महार, नितिन, कोशल कुंडे, वंशगौपाल आदि मौजूद रहे।

कूलर में पनप रहा था लार्वा

खिरहनी में सर्वे के बाद टीम शहर के बीचो-बीच स्थित कोतवाली थाना पहुंची। कोतवाली थाने मे टीआई एसपीएस बघेल के साथ डेंगू के लावा्र की जांच कराई गई। ऑफिर के अंदर रखे फ्लावर कंटेनर, बाहर रखे कूलर में एडीज मच्छर लार्वा पाए गए। टीम ने सभी को खाले करते हुए दवा का छिड़काव किया व एडीज मच्छरों को नष्ट किया।

एनकेजे में चौकाने वाले आंकड़े

एनकेजे क्षेत्र में स्वास्थ्य विभाग द्वारा किए गए सर्वे में चौकाने वाले आंकड़े सामने आए हैं। इसी क्षेत्र से सबसे ज्यादा मरीज और सबसे ज्यादा घरों में एडीज मच्छर का लार्वा पाया गया है। मलेरिया इंस्पेक्टर पीके महार ने बताया कि एनकेजे के 2 हजार 847 घरों में लार्वा सर्वे किया गया। सर्वे के दौरान 663 घरों में एडीज मच्छर का लार्वा पाया गया है।

कलेक्टर और सीएमओ के घर में लार्वा

आमतौर पर मच्छर-मख्खी का नाम आते ही हमारे दिमाग में गंदी झुग्गी बस्तियों की तस्वीर उभरती है, लेकिन डेंगू के मामले में स्थिति कटनी में ठीक उलट है। मलेरिया कार्यालय के अधिकारियों के अनुसार पिछले साल की तरह इस बार भी पॉश एरिया में सबसे ज्यादा डेंगू का लार्वा मिला है। एनकेजे, खिरहनी, चाका, कुठला, बस स्टैंड, मिशन चौक, कलेक्ट्रेट, एसकेपी, हाऊसिंगबोर्ड, बरगवां, डन कॉलोनी आदि में सर्वे हुआ है। सर्वे में यह सामने आया कि पूर्व शिक्षा मंत्री अलका जैन, कलेक्टर विशेष गढ़पाले, एसपी गौरव तिवारी, के बंगले में लार्वा पनप रहा था। इतना ही नहीं जिले के स्वास्थ्य अधिकारी सीएमएचओ डॉ. अशोक चौदहा के घर में भी एडीज मच्छर का लार्वा मिला है।

हाईप्रोफाइल घरों में डेंगू के लार्वे की बहुतायत

दरअसल डेंगू बुखार का संक्रमण फैलाने वाला एडीज मच्छर रुके हुए साफ पानी में फैलता है। यही वजह है कि गंदी बस्तियों की तुलना में हाई प्रोफाइल क्षेत्रों व हाई प्रोफाइल घरों में डेंगू का लार्वा बहुतायत में मिल रहा है। दरअसल इन क्षेत्रों में रहने वाले ज्यादातर लोग बड़े-बड़े बिजनेसमैन या फिर नौकरशाह हैं। हर घर में लंबे-लंबे लॉन और बड़े-बड़े घरों की सफाई की जिम्मेदारी नौकरों के भरोसे है। खास बात यह है कि शहर के बड़े-बड़े अधिकारी से लेकर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के घरों में भी लार्वा मिला है।

इन स्थानों में पनप रहा एडीज का लार्वा

टीम के अनुसार सर्वे के दौरान लॉन में पड़ी बॉटल, मनीप्लांट, गमलों के नीचे रखी प्लेट तक में डेंगू का लार्वा मिला है। कुछ लोग पौधों में पानी देने के लिए अलग से पानी स्टोर करते हैं जिसमें लार्वा की संभावना बढ़ जाती है। पक्षियों को पानी देने के सकोरों और बंद पड़े कूलर में भी डेंगू का लार्वा मिला है। बस स्टैंड क्षेत्र में खाली पड़े टायरों और एनकेजे में घर में भरे पानी में लार्वा मिला।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे