Patrika Hindi News

अफसरों ने पूछा, दुर्घटना पर कैसे लगाओगे लाल सिग्नल

Updated: IST railway
जोन की शेफ्टी ऑटिड टीम ने एनकेजे में किया निरीक्षण, सुरक्षा उपकरणों की हुई जांच

कटनी।वेस्ट सेंट्रल रेलवे जोन की शेफ्टी ऑटिड टीम गुरुवार को यहां पहुंची। मुख्य रेलवे स्टेशन पहुंची टीम सीधे एनकेजे के लिए रवाना हुई। यहां टीम ने रनिंग रूम, लॉबी, हम्पगेट सहित अन्य स्थानों पर सुरक्षा उपकरणों की जांच की और स्थानीय अफसरों से उपकरणों के उपयोग की भी जानकारी ली।

टीम में विभाग के एचओडी सहित आला अफसर शामिल थे। इस दौरान एडीआरएम दिनेशचंद गुप्ता व आरपीएफ अस्सिटेंड कमांडेंट अंशुमान त्रिपाठी भी मौजूद रहे। एनकेजे हम्पगेट पहुंची टीम के अफसरों से यहां मौजूद गैटमेन से दुर्घटना के दौरान लाल सिंग्नल लगाने का तरीका पूछा, जिसपर सिग्नल के दौरान लगने वाले क्लैंप ही गैटमेन नहीं खोल सका।

बाद में अन्य अफसरों से लाल सिग्नल लगाकर दिखाया। टीम से सामने क्लैम्प न खुलने पर अफसरों से फटकार लगाई। दुर्घटना के दौरान बचाव के लिए चलने वाली एआरएमई ट्रेन का निरीक्षण किया गया। एनकेजे निरीक्षण के बाद टीम ने महरोई स्टेशन, ब्रिज, कर्व व ब्यौहारी स्टेशन का निरीक्षण किया।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???