Patrika Hindi News

लैपटॉप खरीद पर खर्च किये सरकारी धन पर उठने लगे सवाल 

Updated: IST laptop
स्टोर रूम के पिछले 6 महीने डिब्बा बंद लैपटॉप धूल फाक रहे

कौशाम्बी. यूपी में विकास की साईकिल उतनी तेजी से नहीं दौड़ी जितनी तेजी से घोटाले बाज़ अफसरों ने सरकारी योजनाओ के धन की बन्दर बाँट की है। मामला कौशाम्बी जिले के रास्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम योजना से जुड़ा है | जिसके तहत खरीदे गए 16 लैपटाप पिछले 6 महीने से स्वास्थ्य महकमे के स्टोर में धूल फाक रहे है। स्वास्थ्य महकमे के अफसरों के मुताबिक लाखो रुपये के सरकारी धन से खरीदे गए यह लैपटॉप दोयम दर्जे से है | जिसके कारण यह प्रयोग में नहीं लिए जा सकते है।

कौशाम्बी के स्वास्थ्य विभाग के स्टोर रूम के पिछले 6 महीने डिब्बा बंद लैपटॉप धूल फाक रहे है। रास्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत खरीदे गए ये 16 लैपटॉप उन डाक्टरों को दिए जाने थे जो सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चो के हेल्थ का लेखा जोखा अब तक कागजो में रखते थे | स्वास्थ्य महकमे ने इन लैपटॉप को रास्ट्रीय रूरल हेल्थ मिशन के सरकारी धन से तकरीबन 4 लाख 80 हज़ार रुपये में खरीदा और आनन फानन में इसका भुगतान भी कंपनी को कर दिया गया | इसके पहले कि यह लैपटॉप डाक्टरों को वितरित किये जाते उसके पहले ही जिला स्वास्थ्य समिति ने लैप टॉप की गुणवत्ता पर सवाल खड़ा कर दिया |

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???