Patrika Hindi News

जीर्णशीर्ण हुआ बिजली कार्यालय, पिलर से झांक रहे हैं सरिए

Updated: IST The condition of the office became such
मध्यप्रदेश विद्युत वितरण कंपनी कार्यालय की हालत इतनी दयनीय हो गई कि भवन के कालमों के सरिए मसाला छोड़ बाहर निकल गए हैं। इन्हें तारों से बांधकर रखा गया है।

सनावद (खरगोन). भवन जर्जर होने से यहां काम करने वाले कर्मचारी भयग्रस्त हैं। उन्हें डर है कि जीर्णशीर्ण भवन कभी भी धराशायी हो जाएगा।

भवन के पोर्च के कालम टूट रहे हैं। तीन कमरे हैं और पोर्च के दो कॉलमों का लगभग पांच फीट के हिस्से में से सीमेंट व रेत निकल रही है। कॉलम के सरिए जंग खाकर टूट रहे हैं। इस कारण दीवार का वजन भी उस पर आ रहा है। उपभोक्ताओं को इसी भवन में बिजली के बिल में शिकायत व निराकरण के लिए आना होता है। वहीं कंपनी के सहायक अभियंता भी इसी भवन में बैठते हैं। कंप्यूटर सेट व बिलों की इंट्री भी इसी भवन में रखे सिस्टम में होती है। कर्मचारियों को भवन में मजबूरीवश सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक बैठना होता है। उपभोक्ता योगेश नामदेव, सलीम खान, रमेश काले, रवि वर्मा ने बताया कि बिजली के बिलों में शिकायत होने पर जाना पड़ता है। परंतु भवन की जीर्णशीर्ण स्थिति को देखते हुए बिल की शिकायत करने से भी डर लगता है। कोई अनहोनी हो जाए और उपभोक्ताओं पर उस घटना का कोई असर हो इसके पहले विभाग को जागना होगा। क्षतिग्रस्त बीम कॉलम को शीघ्र दुरुस्त करवाना होगा। नहीं तो भवन के क्षतिग्रस्त होने से कभी भी हादसा हो सकता है। विभाग द्वारा ऊपरी स्तर पर कई बार शिकायत करने के बाद भी समाधान नहीं हुआ। आमजन ने इसके दुरुस्तीकरण की मांग की है।

हमनें कपंनी के उच्च अधिकारियों को भवन के दुरुस्तीकरण के लिए अवगत कराया है।

केके गुप्ता, सहायक अभियंता विद्युत वितरण कंपनी सनावद

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???