Patrika Hindi News

आधी आबादी ने दिखाया रौद्र रूप, कांपा प्रशासन, अधिकारियों ने दिया आश्वासन

Updated: IST Khargone The women killed by the effigy of the eff
निरीक्षण, पुतला दहन के बाद मिला आश्वासन, पहली बार शराब दुकानों के निरीक्षण पर निकले कलेक्टर और एसपीमहिलाओं ने दुकान के सामने फूंका शराब व्यापारी का पुतला, विधायक को दिया आश्वासन तीन दिन में हटवा देंगे शराब दुकान

खरगोन. बीस दिन से शराब के विरुद्ध शहर में महिलाओं द्वारा चलाए जा रहे अभियान के बाद प्रशासनिक तंद्रा टूटी। शुक्रवार को कलेक्टर एसपी शहर में चल रही शराब दुकानों का निरीक्षण किया। दोनों अफसर उन दुकानों पर पहुंचे जिनका विरोध हो रहा है। दोनों अफसरों के निरीक्षण के बाद भी जब कोई हलचल नजर नहीं आई तो महिलाओं ने फिर शराब दुकान के सामने पहुंचकर पुतला फूंक दिया। इससे पूर्व महिलाओं ने काफी देर तक शराब दुकान संचालकों से बहस भी की। हालांकि शाम को अधिकारियों ने कांग्रेस अध्यक्ष और विधायक झुमा सोलंकी को आश्वासन दिया कि तीन दिन में शराब दुकान हटा दी जाएगी।

सनावद रोड, नहर लिंक रोड, औरंगपुरा, तिलक पथ व उमरखली रोड पर खोली गई शराब दुकानों के विरोध में महिलाओं द्वारा लगातार आवाज बुलंद की जा रही है। इन दुकानों का शहर में जबरदस्त विरोध हो रहा है, धरना प्रदर्शन, चक्काजाम, दुकान फूंकने और हवन पूजन के बाद भी प्रशासन की नींद नहीं टूटी। उल्टा महिलाओं द्वारा जिस दुकान को आग के हवाले किया गयाथा दूसरे दिन उसी दुकान से पुलिस के पहरे शराब बेची गई।

निरीक्षण:शराब की बोतलें देखी

महिलाओं की मांग को लेकर सुस्त रवैया अपनाने वाले जिला प्रशासन में अचानक फुर्ती का संचार हो गया। शुक्रवार को कलेक्टर अशोक वर्मा पुलिस अधीक्षक डी. कल्याण चक्रवर्ती के साथ धर्मशाला में चल रही शराब दुकान पर पहुंचे। दोपहर लगभग 1 बजे यहां पहुंचे अधिकारियों ने दुकान का निरीक्षण कर शराब की बोतलें देखी व रवाना हो गए। इसके बाद दोनों अधिकारियों ने अन्य शराब दुकानों की लोकेशन भी देखी।

जलते पुतले पर बरसाए लट्ठ

धर्मशाला में चल रही शराब दुकान नहीं हटने से आक्रोशित महिलाएं शुक्रवार शाम विधायक झूमा सोलंकी के साथ फिर दुकान पर पहुंच गईं। महिलाओं ने धर्मशाला संचालक रमेश भंडारी व जिला प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी पुतला फूंका। महिलाओं में इतना आक्रोश था कि उन्होंने जलते हुए पुतले को लट्ठ से खूब पीटा।

महिलाओं के आंदोलन को रोकने पहुंचे कोतवाली टीआई माताप्रसाद वर्मा से महिलाओं ने दो टूक शब्दों में कहा कि आप लोग बार-बार बीच में मत आओ। जब तक यह दुकानें हटाई नहीं जाती तब तक आंदोलन इसी तरह चलता रहेगा। इस दौरान इंदिरा मोरे, योगिता देशमुख, वर्षा देशमुख, सुनीता पाटील, शीला चौरे, ममता पारे सहित बड़ी संख्या में महिलाएं मौजूद थीं।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???