Patrika Hindi News


सुरेश हत्याकांड को सात दिन बीते, फिर भी पुलिस मुख्य आरोपी घूम रहा खुलेआम

Updated: IST inside story, son tell why he murder his father by
परिजनों ने पुलिस अधीक्षक से मामले की निष्पक्ष जांच कर दोषियों के जल्द गिरफ्तारी की मांग की है।

किशनगंज। शहर के बहुचर्चित सुरेश हत्याकांड मामले के सात दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस अब तक अंधेरे में ही तीर चला रही है। हालांकि घटना के 24 घंटे के भीतर ही पुलिस ने प्राथमिकी अभियुक्त गीता देवी को गिरफ्तार कर उसे न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया था।

बता दें कि मुख्य अभियुक्त अभी भी फरार है, जिससे पुलिस की कार्य प्रणाली पर सवाल उठने लगे हैं। इतना ही नहीं वारदात एमजीएम कालेज के मुख्य द्वार पर लगे सीसीटीवी कैमरा में कैद हो गई है। पुलिस के पास अपराधियों के फुटेज हैं। इसके बाद भी आरोपी को गिरफ्तार करने में नाकाम है।

पुलिस द्वारा पूरे मामले में सुस्ती बरते जाने के बाद मंगलवार को पीडित परिवार अपनी फरियाद लेकर पुलिस अधीक्षक के समक्ष जा पहुंचा। जहां परिजनों ने बताया कि धरमगंज निवासी टींकू साहा, राधे साहा, उत्तम दास आदि ने योजनाबद्ध तरीके से सुरेश की हत्या करने के बाद मामले को दुर्घटना का रूप देने की कोशिश की थी।

जबकि स्थानीय वार्ड पार्षद प्रमीला तिवारी ने पुलिस के घटनास्थल पर पहुंचने से पूर्व ही सुरेश के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और पोस्टमार्टम उपरांत आनन फानन में उसका अंतिम संस्कार भी कर दिया था। जिस कारण पुलिस स्थल जांच करने में नाकाम रही।

उन्होंने कहा कि मामले का मुख्य अभियुक्त टिंकु इससे पूर्व भी अपने भाई टुनटुन की हत्या कर चुका है। जबकि उत्तम दास का भी आपराधिक इतिहास रहा है। इस मौके पर परिजनों ने पुलिस अधीक्षक से मामले की निष्पक्ष जांच कर दोषियों के जल्द गिरफ्तारी की मांग की है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???