Patrika Hindi News

> > > > Mamata Government insulting martyrs

ममता सरकार ने किया शहीदों का अपमान

Updated: IST kolkata news
प्रदेश भाजपा ने राज्य सरकार पर उरी में शहीद हुए पश्चिम बंगाल के दो जवानों का अपमान करने का आरोप लगाया

कोलकाता.प्रदेश भाजपा ने राज्य सरकार पर उरी में शहीद हुए पश्चिम बंगाल के दो जवानों का अपमान करने का आरोप लगाया। साथ ही उसने सरकार से 10 लाख रुपए मुआवजा देने और राज्य की जनता से माफी मांगने की मांग की।

पार्टी प्रदेश महासचिव विश्वप्रिय राय चौधरी ने गुरुवार को कहा कि ममता बनर्जी ने शहीदों के परिजनों को दो लाख रुपए मुआवजा देने की घोषणा कर जवानों की शहादत का घोर अपमान किया है। इसके लिए उन्हें राज्य की जनता से माफी मांगना होगी। साथ ही मुआवजा राशि बढ़ा कर 10 लाख रुपए करनी होगी। वे इस दिन प्रदेश भाजपा मुख्यालय में संवाददाता सम्मेलन में बोल रहे थे। इस मौके पर पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष जय प्रकाश मजुमदार और अन्य नेता उपस्थित थे।

उन्होंने कहा कि अन्य राज्यों ने अपने राज्यों के शहीदों को सम्मानजनक मुआवजा दिया है। उत्तर प्रदेश ने प्रत्येक शहीद परिवार को 20 लाख और महाराष्ट्र ने 15 लाख देने की घोषणा की है। लेकिन बंगाल सरकार ने सबसे कम मुआवजा देने की घोषणा की है।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की नजर में देश के लिए शहीद होने वालों और शराब पी कर मरने वालों में कोई फर्क नहीं है। यही नहीं उनकी नजरों में शहीदों से अधिक हज करने के दौरान मक्का में मरने वालों का पलड़ा भारी है। यही वजह है कि कुछ साल पहले ममता बनर्जी ने मोगरा में अवैध शराब पी कर मरने वालों के परिजनों को दो लाख रुपए और बंगाल से हज करने मक्का जाने वालों की मौत होने पर उनके परिजनों को दस लाख रुपए मुआवजे के तौर पर दिए थे। इससे मुख्यमंत्री और उनकी सरकार के साम्प्रदायिक होने और शहीद विरोधी इरादा सामने आया है। उन्होंने कहा कि बंगाल सरकार ने उरी के शहीदों के परिजनों को सबसे कम मुआवजा दिया है।

किस राज्य ने कितना दिया मुआवजा

राज्य मुआवजा राशी

उत्तर प्रदेश 20 लाख रुपए

महाराष्ट्र 15 लाख रुपए

बिहार 11 लाख रुपए

झारखण्ड 10 लाख रुपए

पश्चिम बंगाल 2 लाख रुपए

साम्प्रदायिकता को दे रही हैं बढावा

प्रदेश भाजपा के महासचिव राय चौधरी ने राज्य सरकार और तृणमूल कांग्रेस पर बंगाल में साम्प्रदायिकता को बढ़ावा देने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि मुस्लिम समुदाय का पीर दोहा सिद्दकी कह रहा है कि मुसलमान तय करेंगे कि बंगाल का मुख्यमंत्री कौन होगा। इसके बावजूद राज्य सरकार ने कोई कदम नहीं उठाया है। इससे पता चलता है कि राज्य में पनपती साम्प्रदायिकता किस हद तक चली गई है। ऐसे बयान देने वालों को गिरफ्तार करना चाहिए। लेकिन सरकार कुछ नहीं कर रही है।

सैकड़ों भाजपा में शामिल

प्रदेश भाजपा महासचिव ने बताया कि गुरुवार को हावड़ा और हुगली में कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस और वाम मोर्चा के एक हजार से अधिक नेता और कार्यकर्ता भाजपा में शामिल हुए। इसमें से 700 हावड़ा के और 300 से हुगली के हैं। इसके अलावा विभिन्न दलों के नदिया में 200, मुर्शिदाबाद में 150 और कूचबिहार में 1500 लोग भाजपा में शामिल हुए हैं।

कांग्रेस नहीं करे राष्ट्रवाद की बात

इस दिन उरी के मुद्दे पर प्रदेश युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं और समर्थकों ने प्रदेश भाजपा कार्यालय के सामने विरोध प्रदर्शन किया। विश्वप्रिय राय चौधरी ने इसका कड़ा विरोध किया। उन्होंने कहा कि कम से कम कांग्रेस राष्ट्रवाद की बात नहीं करे। वह कहती है कि कश्मीर में युद्ध हो रहा है। लेकिन कांग्रेस बताए कि कश्मीर में कहां युद्ध हो रहा है।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे