Patrika Hindi News

यौन उत्पीडऩ के खिलाफ लड़ती औरत की कहानी है मातृ-रवीना

Updated: IST kolkata news
यौन उत्पीडऩ के खिलाफ पूरे समाज व व्यवस्था से लड़ती औरत की कहानी है मातृ। हमारे देश में आए दिन छेडख़ानी व दुष्कर्म की घटनाएं घट रही हैं। कहीं न कहीं समाज में जागरूकता का अभाव है

कोलकाता. यौन उत्पीडऩ के खिलाफ पूरे समाज व व्यवस्था से लड़ती औरत की कहानी है मातृ। हमारे देश में आए दिन छेडख़ानी व दुष्कर्म की घटनाएं घट रही हैं। कहीं न कहीं समाज में जागरूकता का अभाव है। ऐसी घटनाएं किसी के साथ भी घट सकती हैं। महिलाओंं को अपनी लड़ाई खुद ही लडऩी होगी।

महिला के साथ होने वाली ऐसी घटना के लिए पूरा समाज जिम्मेदार है। हमें सामूहिक रूप से पहल करनी होगी। कोलकाता में बॉलीवुड की फिल्म मातृ के प्रमोशन पर आईं अभिनेत्री रवीना टंडन ने यह बातें कही। मातृ एक मां व बेटी की कहानी है। जिनके साथ दुष्कर्म जैसी भयंकर घटना घटती है।

फिल्म के बारे में बताते हुए रवीना ने कहा कि हमारा समाज शिक्षित हो रहा है, लेकिन जो व्यापक नजरिया होना चाहिए वह अभी भी नहीं है। फिल्म के प्रमोशन पर बांग्ला फिल्म जगत के अभिनेता प्रेसनजीत चटर्जी ने भी शिरकत की। मातृ फिल्म शुक्रवार से ही सिनेमाघरों में रिलीज हो चुकी है।

हर एक लड़की होती है छेडख़ानी का शिकार

रवीना टंडन ने कहा कि कहे न कहे हर एक लड़की छेडख़ानी का शिकार होना पड़ता है। रास्ते मे, मोहल्ले में, बस में, टे्रन में कहीं भी। लड़कियों को मानसिक व शारीरिक रूप से मजबूत बनाना होगा। किसी के भरोसे नहीं अपनी रक्षा खुद करनी होती। लड़कियां किसी भी मामले में कमजोर नहीं है।

सरकार लाए सख्त कानून

अभिनेत्री रवीना टंडन ने कहा कि छेडख़ानी ,दुष्कर्म जैसी घटनाओं के लिए सख्त कानून लागू होना चाहिए। उनकी कड़ाई से पालना कराई जानी चाहिए। जिसे लोग उदाहरण के तौर पर याद रखें। हमें इन घटनाओं को अनदेखा नहीं करना चाहिए।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???