Patrika Hindi News

> > > > Well now’s not the black money holders

कालेधन रखने वालों की अब खैर नहीं

Updated: IST kolkata news
आय घोषणा योजना की समयसीमा समाप्त होने के बाद कालेधन रखने वालों की खैर नहीं। आयकर विभाग अघोषित संपत्ति रखने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने को तैयार है

आशुतोष सिंह

कोलकाता. आय घोषणा योजना की समयसीमा समाप्त होने के बाद कालेधन रखने वालों की खैर नहीं। आयकर विभाग अघोषित संपत्ति रखने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने को तैयार है। विभाग ने अघोषित धन रखने वालों की सूची भी लगभग तैयार कर ली है।

केन्द्र सरकार ने कालेधन बाहर लाने के लिए उक्त योजना शुरू की है। इसकी अंतिम तारीख 30 सितम्बर है।इस योजना के तहत आयकर विभाग की पूर्वी शाखा पश्चिम बंगाल में नोटिस भेज कर लोगों को योजना के फायदे समझा रही है। समय सीमा पार होने के बाद आयकर विभाग अपने कायदे-कानून के तहत काम करना शुरू करेगा।

कोलकाता में पदस्थ आयकर विभाग के एक आयुक्त ने बताया कि अघोषित संपत्ति रखने वालों को संपत्ति घोषित करने के लिए समझाने का काम सिर्फ 30 सितम्बर तक ही चलेगा। उसके बाद आयकर विभाग सीधी कार्रवाई करेगा। उनके ठिकानों पर छापे मारे जाएंगे। अघोषित संपत्ति जब्त की जाएगी।

आयकर आयुक्त ने बताया कि अभी अघोषित संपत्ति की घोषणा करने पर उन्हें अघोषित संपत्ति का सिर्फ 45 प्रतिशत सरकार को देना पड़ेगा। 55 प्रतिशत अघोषित संपत्ति वैध हो जाएगी। साथ ही सम्मान भी मिलेगा, लेकिन 30 सितम्बर के बाद अघोषित संपत्ति में से फूटी कौड़ी भी नहीं मिलेगी। उल्टे उन्हें जुर्माना भरना पड़ेगा और जेल की हवा भी खानी पड़ेगी। अघोषित संपत्ति का उन्हें ब्याज भी देना पड़ेगा, जिसे वसूलने के लिए आयकर विभाग संपत्ति छिपाने वाले के घर और घोषित संपत्ति कुर्क भी करेगा।

आयकर अधिकारी की सलाह

कालेधन रखने वाले को 30 सितम्बर से पहले अपनी अघोषित संपत्ति घोषित कर देनी चाहिए। अब कोई विकल्प नहीं है। ऐसा करने से अघोषित आय का 55 प्रतिशत बच जाएगा अन्यथा सब चला जाएगा।

क्या है आय घोषणा योजना

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश में छुपे कालेधन को बाहर लाने के लिए आय घोषणा योजना शुरू की है। इसके तहत कालेधन घोषित कर उसका 45 प्रतिशत सरकारी खजाने में जमा कर बाकी के 55 प्रतिशत को सफेद करने की छूट दी गई है। इसकी अंतिम तारीख 30 सितम्बर तय की गई है।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे