Patrika Hindi News

बालको संयंत्र में हादसा : बॉयलर फटने से ऑपरेटर सहित तीन झुलसे, अस्पताल में दाखिल

Updated: IST Child accident in plant: Three boars, including op
बालको के 1200 मेगावाट पॉवर संयंत्र में गुरुवार को शाम करीब 7.30 बजे बॉयलर फटने से बॉयलर आपरेटर सहित तीन कर्मी झुलस गए। गंभीर रूप से झुलसे विनीत मिश्रा को अस्पताल में उपचार के लिए दाखिल कराया गया है जबकि दूसरे श्रमिकों को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई।

कोरबा. बालको के 1200 मेगावाट पॉवर संयंत्र में गुरुवार को शाम करीब 7.30 बजे बॉयलर फटने से बॉयलर आपरेटर सहित तीन कर्मी झुलस गए। गंभीर रूप से झुलसे विनीत मिश्रा को अस्पताल में उपचार के लिए दाखिल कराया गया है जबकि दूसरे श्रमिकों को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई।

बालको संयंत्र में लगे बॉयलर में खराबी आ गई थी। इसका मेंटेनेंस कार्य इंजीनियरों की उपस्थिति में श्रमिकों द्वारा किया जा रहा था। गुरुवार को शाम करीब 7.30 बजे कार्य करने के दौरान बॉयलर फट गया और बड़ी मात्रा में गर्म तेल यहां उपस्थित श्रमिकों पर आ गिरा। इससे बॉयलर ऑपरेटर विनीत मिश्रा सहित तीन श्रमिक झुलस गए। घटना के बाद सेक्शन में अफरा-तफरी मच गयी। अन्य विभागों में कार्यरत श्रमिक भी वहां पहुंच गए। मामला तूल न पकड़े इस भय से अधिकारियों ने घायल श्रमिकों का े आनन-फानन में घटनास्थल से हटाया। उन्हें उपचार के लिए ले गए। करीब एक घंटे पूर्व बाल्को हॉस्पिटल में भर्ती विनीत का बयान पुलिस बाल्को थाने के द्वारा लिया गया।

सुरक्षा सिर्फ औपचारिकता में- इस घटना से सुरक्षा मानकों में लापरवाही का मामला है। इसी प्रकार के एक और मामले को दबाकर कल एक को आपोलो बिलासपुर मे भी भेज दिया गया जहाँ वो गम्भीर हालत में है। गुरुवार की दुर्घटना मे भी श्रमिक काफी गंभीर रूप से झुलसा है और उसका उपचार चल रहा है। श्रमिकों का कहना है कि सुरक्षा के मानकों के अनुरूप श्रमिकों को सुरक्षा उपलब्ध नहीं करायी जाती है जबकि कोरबा के श्रम से संबंधित अधिकारी व औडोगिक स्वास्थ्य सुरक्षा संचालक नियमित रूप से इस औद्योगिक संस्थान का निरीक्षण करते रहते हैं और अपने सुझाव भी देते हैं लेकिन अधिकारी इन सुझावों पर अमल की स्थिति का परीक्षण नहीं करते हैं।

दो दिन पूर्व भी हुआ था हादसा- दो दिन पूर्व भी बालको के 1200 मेगावाट संयंत्र में बॉयलर फटने की घटना घटित हुई थी। इसमें एक श्रमिक घायल हो गया था। श्रमिक को उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई थी। श्रमिकों द्वारा विरोध न हो इसके मद्देनजर मामले को दबा दिया गया लेकिन ठोस उपाय नहीं किये जाने से गुरुवार की शाम पुन: घटना घटित हो गई, जिसमें तीन कर्मी घायल हो गए।

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???