Patrika Hindi News

 कोरबा के 12वीं पास पांच हजार छात्रों को जिले से बाहर जाना पड़ेगा

Updated: IST 12th students of Korba will have to go out of the
एक तरफ सरकार युवाओं को प्रोत्साहन का ढिंढोरा पीट रही है तो दूसरी तरफ कोरबा के 12वीं पास पांच हजार छात्रों को जिले से बाहर जाना पड़ जाएगा। उच्च शिक्षा के लिए कोरबा में पांच हजार सीटें ही कम पड़ गई।

कोरबा. एक तरफ सरकार युवाओं को प्रोत्साहन का ढिंढोरा पीट रही है तो दूसरी तरफ कोरबा के 12वीं पास पांच हजार छात्रों को जिले से बाहर जाना पड़ जाएगा। उच्च शिक्षा के लिए कोरबा में पांच हजार सीटें ही कम पड़ गई।

कॉलेजों में पिछले चार पांच साल से सीटें नहीं बढ़ी तो वहीं नए कॉलेजों के प्रस्ताव भी ठंडे बस्ते में है। महाविद्यालय में प्रवेश के लिए पहले चरण के लिए ऑनलाइन फार्म जमा करने की प्रक्रिया शनिवार की रात 12 बजे तक थी।

कोरबा में नौ प्राइवेट और नौ सरकारी महाविद्यालय है। इनमें कुल 4312 सीटें है। इसके मुकाबले कोरबा में फार्म रिकार्ड साढ़े नौ हजार जमा हुए। पहली कटऑफ सूची सोमवार की देरशाम तक जारी होगी।

जाहिर सी बात है कि जितनी सीटें उपलब्ध है उतने ही छात्रों को दाखिला मिलेगा। ऐसे में लगभग पांच हजार छात्र-छात्राओं के लिए सीटें ही उपलब्ध नहीं है। लिहाजा अब इन छात्रों को कोरबा से बाहर दीगर जिले की ओर रूख करना पड़ेगा।

वैसे भी इंजीनियरिंग, प्रोफेशनल, मेडिकल में औसतन दो हजार से अधिक छात्र कोरबा से बाहर पढऩे जाते हैं। ऐसे में कुल सात से आठ हजार छात्रों को उच्च शिक्षा की पर्याप्त सीटें नहीं होने की वजह से कोरबा से बाहर जाने की मजबूरी है।

अभी से परिजनों व छात्र अन्य शहर व प्रदेशों के कॉलेजों मेें दाखिले के लिए दौड़ लगाने लगे हैं। इसके आलावा एडमिशन का भारी भरकम फीस, और रहने का खर्च भी परिजनों का वहन करना पड़ रहा है।

उच्च शिक्षा के लिए ऊर्जाधानी में सरकार द्वारा किसी तरह की ठोस पहल नहीं की जा रही है। मनचाहा विषय भी नहीं मिल पाने के कारण छात्रों को मजबूरी में बाहर जाना पड़ रहा है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???