Patrika Hindi News

> > > > korba : If you are going to travel on National Highway 111 Get Attention

अगर आप National Highway 111  पर सफर करने जा रहें हैं तो हो जाइए सावधान

Updated: IST Get Attention to travel on National Highway
आधा दर्जन पुल-पुलियां ऐसे हैं जो रेलिंग विहीन है। अंधे मोड़ पर वाहन चालक अक्सर धोखा खा जाते हैं। और वाहन अनियंत्रित होकर पलट जाती हैं।

कटघोरा-बिलासपुर मार्ग में हर रोज हो रहे हादसे, नहीं बना अभी चौड़ीकरण का प्लान

कोरबा. कटघोरा से बिलासपुर नेशनल हाइवे पर आए दिन हादसे हो रहे हैं पर इस सड़क के चौड़ीकरण के लिए कोई प्लान अब तक नहीं बनाया गया है। आधा दर्जन पुल-पुलियां ऐसे हैं जो रेलिंग विहीन है। अंधे मोड़ पर वाहन चालक अक्सर धोखा खा जाते हैं। और वाहन अनियंत्रित होकर पलट जाती हैं।बिलासपुर के लिए सबसे प्रमुख मार्ग नेशनल हाइवे 111 कटघोरा-बिलासपुर मार्ग का सबसे अधिक उपयोग होता है। कोरबा के साथ-साथ दूसरे जिले सरगुजा, कोरिया सहित बाहरी राज्यों से भी कनेक्टीविटी इस सड़क के माध्यम से होती है।

दिनभर वाहनों की आवाजाही लगी रहती है। इसी वजह से सड़क पर यातायात का दबाव सबसे अधिक रहता है। इसके अलावा पाली मोड़ में एसईसीएल की खदानों से निकलने वाले कोयला लोड वाहनों का रेलमपेल भी लगा रहता है। सड़क पर इतने वाहनों के कारण छोटे वाहनों के लिए चलने की जगह नहीं बचती। दोपहिया व चारपहिया वाहन चालक डर के साए में आवागमन करते हैं। लगभग सौ किलोमीटर के इस मार्ग में पुल-पुलियों का मरम्मत कार्य ही नहीं कराया जा रहा है। आधा दर्जन पुलियां रेलिंग विहीन है। जहां आमतौर पर वाहन दुर्घटना का शिकार हो जाते हैं।

कटघोरा बाइपास से थोड़ी राहत

पीडब्लूडी द्वारा हाल ही में कटघोरा बाइपास का निर्माण शुरू कराया गया है। इसके बनने के बाद कम से कम कटघोरा नगरवासियों को भारी वाहनों से छुटकारा मिल सकेगा। नेशनल हाइवे पर चलने वाले भारी वाहन इस बाइपास से होकर दूसरी तरफ निकल जाएंगे। काफी हद तक राहत तो मिलेगी। पर इसके आगे सड़क पर भारी वाहनों के दबाव को कम करने के लिए भी प्रस्ताव बनाना चाहिए।

खदान खुलने के बाद और भी बढ़ेगी समस्या

इस मुख्य मार्ग में सरईपाली खदान शुरू होने वाला है। इसके खुलने के बाद इस मार्ग में रोजाना भारी वाहनों का दबाव और भी बढ़ेगा। सड़क चौड़ीकरण पर अभी ध्यान नहीं है, आने वाले दिनों में जब दबाव और भी बढ़ेगा, तब जाकर समस्या भी बढ़ेगी। समय रहते अगर सड़क चौड़ीकरण कर दिया जाता है, तो निश्चित तौर पर दुर्घटनाओं पर लगाम लग सकेगा। इस दिशा में गंभीरता से प्रयास नहीं किया जा रहा है। इससे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे