Patrika Hindi News

खदान प्रभावित 41 गांव को मिलेगा शुद्ध पेयजल

Updated: IST Mine will affect 41 villages with clean drinking w
कोयला खदान प्रभावित 41 गांव को शुद्ध पेयजल की आपूर्ति की जाएगी। इसके लिए एसईसीएल ने योजना का प्रस्ताव मुख्यालय को भेजा है।

कोरबा. कोयला खदान प्रभावित 41 गांव को शुद्ध पेयजल की आपूर्ति की जाएगी। इसके लिए एसईसीएल ने योजना का प्रस्ताव मुख्यालय को भेजा है। प्रस्ताव को स्वीकृति मिलने के बाद काम शुरू किया जाएगा।

जिले में कोयला खदानों की अधिकता है। एसईसीएल की रजगामार, मानिकपुर, सुराकछार, बलगी, बांकी, सिंघाली, ढेलवाडीह, बगदेवा के अलावा कुसमुंडा, दीपका व गेवरा खदान चलाई जा रही है।

इन क्षेत्रों में हर वर्ष पेयजल को लेकर परेशानी सामने आती है। खासकर गर्मी के दिनों में भूजल स्रोत सूख जाने से कुआं, हैंडपंप, बोर काम नहीं करता है।

इसे देखते हुए कई गांव में एसईसीएल द्वारा टैंकर से जलापूर्ति की जाती है। यह लोगों के लिए नाकाफी होता है। इसकी शिकायत लोग कई बार कर चुके हैं।

इसके बाद भी समस्या का स्थाई हल नहीं निकल पा रहा है। इसे देखते हुए एसईसीएल ने 41 गांव के लिए योजना बनाई है। इसका प्रस्ताव मुख्यालय को भेजा गया है। इसका लाभ गेवरा, दीपका, कुसमुडा व कोरबा क्षेत्र के लोगों को मिलेगा।

खदान में अथाह पानी

कोयला खदानों में अथाह पानी है। कोयला उत्खनन के बाद पानी, बंद क्षेत्रों में एकत्रित किया जाता है। इसका कोई उपयोग नहीं हो पाता। इस पानी का उपयोग करने की योजना बनाई गई है।

वाटर ट्रीटमेंट प्लांट स्थापित करके पहले पानी को साफ किया जाएगा। इसके बाद ओवर हेड टंकी से पाइप द्वारा पानी की सप्लाई की जाएगी। भूजल स्रोत सूखने के बाद भी योजना का लाभ मिलेगा।

गहराई में कोयला खदान

कोयला खदानों का संचालन गहराई में होता है। अधिकतम 500 फीट में खदानें चलाई जाती है। कुआं, बोर व हैंडपंप 300 फीट की गहराई में होते हैं।

इससे भूजल स्रोत निकट की खदान में चला जाता है। खोदाई करने से जल स्रोत में कटाव होता है। इसका प्रभाव आसपास के भूजल स्रोत पर पड़ता है। खदान में एकत्रित पानी का उपयोग करने से कोई कमी नहीं होगी।

इन गांवों को मिलेगा लाभ

एसईसीएल गेवरा, कुसमुण्डा, दीपका, कोरबा से प्रभावित ग्राम पाली, पड़निया, सोनपुरी, जटराज, रिस्दी, खोडरी, रलिया, बाहनपाठ, पोड़ी, अमगांव, भठोरा, नरईबोध,

भिलाईबाजार, बरभांठा, सलोरा, पंडरीपानी, गेवरा बस्ती, हरदीबाजार, सुआभोंड़ी, मलगांव, रेंकी, कोसमंदा, जुनाडीह, बिंझरा, बरेली, सिरकी, झाबर, दीपका, विजयनगर, नेहरूनगर, गंगानगर, मनगांव, मड़वाढोड़हा, बुड़बुड़।

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???