Patrika Hindi News

एनएसएस शिविर : जब स्वयंसेवकों को विदाई देते भावुक हुए ग्रामीण,बोले फिर आना गांव

Updated: IST volunteers give emotional farewell
समापन कार्यक्रम में वक्ताओं ने अपने संबोधन में शिविर के महत्व पर प्रकाश डाला और शिविर के दौरान स्वयंसेवकों द्वारा किए गए कार्यों की सराहना की।

कटघोरा. शासकीय कालेज कटघोरा के विद्यार्थियों का राष्ट्रीय सेवा योजना(एनएसएस) समापन रंगारंग कार्यक्रमों के साथ संपन्न हुआ। कर्यक्रम के मुख्य अतिथि धुरपाल सिंह कंवर थे जबकि अध्यक्षता कालेज के प्राचार्य सतीश कुमार अग्रवाल ने की।

समापन कार्यक्रम में वक्ताओं ने अपने संबोधन में शिविर के महत्व पर प्रकाश डाला और शिविर के दौरान स्वयंसेवकों द्वारा किए गए कार्यों की सराहना की। कार्यक्रम में उपस्थित ग्रामीणों की आंखों भर जब वक्ताओं ने उनके योगदान की चर्चा करते हुए कहा कि यह शिविर तब तक संपन्न हो पाता जब तक ग्रामीण हमें अपना समाज मान कर शिविर के छात्रों का ख्याल नहीं रखते। गा्रमीणों से मिले सहयोग और प्यार की बात कहते-कहते कार्यक्रम अधिकारी भावुक हो गए और छात्र भी भावुक हो गए। कार्यक्रम में सहायक कर्यक्रम अधिकारी सूर्यकान्त मानिकपुरी ने लोगो को हंसाने के लिए नाटक की प्रस्तुति भी दिखायी।

स्व सहायता समूह का रहा योगदान.

कैंप में रोजाना समूह की महिलाओं ने शिविर में आए विद्यार्थियों के लिए नाश्ते व भोजन की व्यवस्था संभाल रखी थी।

शिविर समापन में पूर्व स्वयंसेवक शामिल

राष्ट्रीय सेवा योजना के इस शिविर में शामिल विद्यार्थियों ने अपने-अपने अनुभव बताए। उन्होंने अगली मंजिल के लक्ष्य को प्राप्त करने का तरीका भी बताया। कर्यक्रम में सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति दे कर पुराने दिनों को याद किया। मुख्य रूप से राजकुमार, भुवन पाल, अशोक रजक आदि शामिल रहे।

विदाई देने उमड़ा गांव

शिविर खत्म होने के बाद जब कार्यक्रम अधिकारी व विद्यार्थी अपने घरों की ओर रवाना हुए तो ग्रामीण उन्हें छोडऩ के लिए सड़क तक आए। नम आँखों से विदाई दी। और फिर अगली बार शिविर लगाने का आग्रह किया।

सेल्फी का लुत्फ उठाया

स्वयंसेवकों ने कार्यक्रम अधिकारी, पुराने स्वयंसेवकों के साथ मिलकर सेल्फी ली । अपनी-अपनी खुशी जाहिर की।

ग्रामीणों व स्वयंसेवकों ने साथ-साथ खाया खाना

ग्रामीणों का प्यार,व्यवहार व सहयोग देख कर कर्यक्रम अधिकारी ने पूरे गंावों वालों को खाने पर आमंत्रित किया। शिविर समापन के दिन सभी गांव वाले, छात्र और अधिकारी ने एक साथ मिलकर खाना खाया।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???