Patrika Hindi News

लेमरू से पांच मजदूरों को राजस्थान ले जा रहा दलाल पकड़ाया

Updated: IST Taking the broker gave it five workers in Rajastha
वनांचल ग्राम लेमरू से पांच मजदूरों को लेकर राजस्थान जा रहा दलाल पुलिस के हत्थे चढ़ गया है। पुलिस ने पांच मजदूरों को रोक लिया है। आगे की जांच के लिए मामला श्रम विभाग को सौंप दिया है। बालकोनगर थानेदार यदुमणी सिदार ने बताया कि लेमरू से कोरबा जा रही बस में पांच मजदूरों के पलायन करने की सूचना मिली थी। पुलिस ने बालकोनगर में बस की जांच की। पांच मजदूर पकड़े गए। दलाल ओमप्रकाश को भी पुलिस ने पकड़ लिया।

कोरबा. वनांचल ग्राम लेमरू से पांच मजदूरों को लेकर राजस्थान जा रहा दलाल पुलिस के हत्थे चढ़ गया है। पुलिस ने पांच मजदूरों को रोक लिया है। आगे की जांच के लिए मामला श्रम विभाग को सौंप दिया है।

बालकोनगर थानेदार यदुमणी सिदार ने बताया कि लेमरू से कोरबा जा रही बस में पांच मजदूरों के पलायन करने की सूचना मिली थी। पुलिस ने बालकोनगर में बस की जांच की। पांच मजदूर पकड़े गए। दलाल ओमप्रकाश को भी पुलिस ने पकड़ लिया।

प्रारंभिक जांच में पता चला है कि मजदूर लेमरू थाना क्षेत्र के गांव डोकरमना और लामपहाड़ के निवासी हैं। लामपहाड़ में रहने वाला ओमप्रकाश मजदूरों को राजस्थान के जैसलमेर जिले में भेज रहा था। मजदूरों को एक बोर वेल्स कंपनी में काम देने का प्रलोभन दिया गया था। ओमप्रकाश राजस्थान का निवासी है। पिछले कुछ साल से लामपहाड़ क्षेत्र में रहकर काम करता है। मजदूरों को प्रलोभन देकर राजस्थान भेजता है। जिन मजदूरों को राजस्थान भेजा जा रहा था, उसमें डोकरमना निवासी रतिराम मंझवार, सागर, श्याम कंवर, बीर सिंह और लामपहाड़ निवासी नरेश शामिल है। पूछताछ में पुलिस को पता चला है कि आदिवासी मजदूरों को कोरबा से रास्ते बिलासपुर तक पहुंचाना था। इसके बाद मजदूरों को ट्रेन सेे जोधपुर के रास्ते जैसलमेर ले जाना था। मजदूरों के साथ ओमप्रकाश का नाबालिग पुत्र भी जा रहा है।

नहीं बचता पैसा- इधर, पलायन से रोके गए मजदूर रतिराम ने बताया कि क्षेत्र में काम मिलता है। लेकिन ठेकेदार मजदूरी का भुगतान 150 रुपए प्रतिदिन काम की दर से करते हैं। मजदूरी का नियमित भुगतान भी नहीं होता। पैसे भी नहीं बचता है। वे काम करने राजस्थान जा रहे थे।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???