Patrika Hindi News

हाइडल संयंत्र से पूरी की जा रही बिजली की कमी

Updated: IST The lack of electricity in the entire hydel plant
छग उत्पादन कंपनी के विद्युत सयंत्रों की हालत खराब है। आए दिन कोई न कोई इकाई बंद रहती है। इसका प्रभाव बिजली की उपलब्धता पर पड़ रहा है।

कोरबा. छग उत्पादन कंपनी के विद्युत सयंत्रों की हालत खराब है। आए दिन कोई न कोई इकाई बंद रहती है। इसका प्रभाव बिजली की उपलब्धता पर पड़ रहा है।

इससे निपटने के लिए पीक आवर में हाइडल संंयंत्र बांगो से बिजली ली जा रही है।

बांगो हाइडल संयंत्र में 40 मेगावाट की तीन इकाई स्थापित की गई है। संयंत्र का संचालन डेम से पानी बाहर करने पर होता है। गर्मी के दिनों में पानी की जरुरत पडऩे पर गेट को खोला जाता है।

तब बिजली भी बनती है। यह बिजली उत्पादन कंपनी को मिलती है। इस समय भी शाम को दो घंटे हाइडल संयंत्र को चलाने के लिए पानी छोड़ा जा रहा है।

एक इकाई के चलने पर 35 मेगावाट बिजली मिल रही है। इससे कंपनी को थोड़ी राहत है। वर्तमान में भी कोरबा पूर्व संयंत्र की दो इकाई बंद है।

120 मेगावाट व 50 मेगावाट की इकाई में बिजली नहीं बन रही है। एक दिन पहले डीएसपीएम ताप विद्युत गृह में 250 मेगावाट की एक इकाई बंद हो गई थी।

एचटीपीपी में 210 मेगावाट की इकाइयां लगातार नहीं चल पा रही है। मड़वा संयंत्र में केवल 500 मेगावाट की एक इकाई में ही बिजली बनाई जा रही है। दूसरी इकाई एक माह चलने के बाद तकनीकी खराबी के कारण बंद है। इसके चालू होने का इंतजार किया जा रहा है।

ठंड का समय होने के बाद भी बिजली की मांग तीन हजार मेगावाट तक जा रही है। संयंत्रों में बिजली का उत्पादन कम होने से सेंट्रल सेक्टर से अधिक बिजली लेकर सप्लाई करनी पड़ रही है। इसे देखते हुए भी हाइडल संयंत्र का संचालन किया जा रहा है।

मांग जाएगी चार हजार मेगावाट

गर्मी में इस बार मांग चार हजार मेगावाट से अधिक रहने की संभावना है। इतनी बिजली की उपलब्धता रहने पर ही कटौती की जरुरत नहीं पड़ेगी।

अन्यथा कटौती का सामना लोगों को करना पड़ेगा। अधिकारियों का कहना है कि मड़वा संयंत्र में स्थापित 500 मेगावाट की एक नंबर इकाई तब तक उत्पादन में आ जाएगी।

अभी टरबाइन में सुधार कार्य कराया जा रहा है। मार्च तक इसे चालू करने का लक्ष्य रखा गया है। केंद्र व राज्य के सेंट्रल पुल से बिजली लेकर आपूर्ति को सामान्य रखा जा सकता है। किसी को कोई परेशानी नहीं होगी।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???