Patrika Hindi News

स्कूल पहुंचकर युवक ने शिक्षक पर फरसे से कर दिया हमला, उपचार के दौरान मौत

Updated: IST The young man was attacked by ax on reaching schoo
शराब के नशे में होश खो बैठे ग्रामीण ने स्कूल में पहुंचकर बच्चों के सामने शिक्षक के सिर और पेट पर फरसा मार दिया। बेहोश शिक्षक को शहर के एक निजी अस्पताल पहुंचाया गया। इलाज के दौरान शिक्षक ने दम तोड़ दिया। शिक्षक को मारने से पहले ग्रामीण ने अपने घर में भी जमकर उत्पात मचाया। डरे घर वालों को जंगल में शरण लेने पर मजबूर कर दिया।

कोरबा. शराब के नशे में होश खो बैठे ग्रामीण ने स्कूल में पहुंचकर बच्चों के सामने शिक्षक के सिर और पेट पर फरसा मार दिया। बेहोश शिक्षक को शहर के एक निजी अस्पताल पहुंचाया गया। इलाज के दौरान शिक्षक ने दम तोड़ दिया। शिक्षक को मारने से पहले ग्रामीण ने अपने घर में भी जमकर उत्पात मचाया। डरे घर वालों को जंगल में शरण लेने पर मजबूर कर दिया।

घटना बांगो थानांतर्गत ग्राम कछार की है। यहां रहने वाला रत्थू धनवार बुधवार दोपहर फरसा लेकर गांव के प्राथमिक स्कूल पहुंचा। इसे देखकर बच्चे डर गए। शिक्षक सुनील शुक्ला 49 कक्षा के बाहर बरामदे में खड़े थे। इसबीच रत्थू ने फरसे से पहला हमला सुनील के सिर पर किया। फिर पेट पर मारा। शिक्षक सुनील बेहोश होकर बरामदे में गिर गए। डर से बच्चे इधर, उधर भागने लगे। सुनील के साथ गांव के स्कूल में पढ़ाने वाले दूसरे शिक्षक ने घटना की सूचना सुनील के घर वालों को दी। शिक्षक को कोरबा के ट्रामा सेंटर मेंं भर्ती किया गया। बुधवार शाम करीब पांच बजे शिक्षक की मौत हो गई। इधर फरसा से मारने के बाद आरोपी रत्थू स्कूल से फरार हो गया। घटना की सूचना मिलते ही बांगो पुलिस मौके पर पहुंची। आरोपी रत्थू की छानबीन की लेकिन वह पकड़ में नहीं आया। जिला अस्पताल चौकी में पुलिस ने केस दर्ज किया है।

भोजन अवकाश के दौरान की घटना- जिस समय रत्थू स्कूल पहुंचा। कुछ बच्चे मिड डे मील खा रहे थे। कुछ स्कूल में घूम रहे थे। स्कूल के दूसरे शिक्षक जायसवाल भी शिक्षक सुनील के साथ स्कूल में मौजूद थे।

अवैध संबंध का मामला- घटना के संबंध में बताया जाता है कि शिक्षक सुनील के पुत्र पर पिछले साल रत्थू की रिश्तेदार ने दुष्कर्म का आरोप लगाया था। शिक्षक पुत्र के खिलाफ अजाक थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। दुष्कर्म के आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। कुछ माह पहले आरोपी जेल से जमानत पर बाहर आया था। दुष्कर्म को लेकर दोनों परिवारों के बीच पहले से विवाद चल रहा था। घटना का कारण भी यही पुराना विवाद बताया गया है। हालांकि पुलिस मामले की जांच कर रही है।

परिजन जंगल में छिपे- पुलिस ने बताया कि रत्थू धनवार ने बुधवार सुबह से शराब पी लिया था। शराब के नशे में धुत रत्थू ने पहले घर में जमकर हंगामा मचाया। घर में मौजूद मां-बाप, पत्नी और बच्चों से मारपीट की। उसका आक्रोश देखकर परिवार ने सुबह ही घर छोड़ दिया। परिवार के लोगों ने जंगल में शरण ली। शिक्षक की हत्या के बाद पुलिस रत्थू के घर पहुंची तो कोई नहीं मिला। पूछताछ करने पर पता चला कि घर वाले जंगल में छिपे हैं। ग्रामीणों की मदद से पुलिस ने घर वालों को जंगल से बाहर निकाला।

गांव में रहते थे शिक्षक- शिक्षक सुनील सन् 1989 से गांव के प्राथमिक स्कूल में पढ़ाते थे। उन्होंने गांव में ही घर बना लिया था। परिवार के साथ रहते थे। इसबीच उनके पुत्र का प्रेम संबंध एक लड़की से चल रहा था। वह आरोपी रत्थू की रिश्तेदार थी।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???