Patrika Hindi News

लिव-इन-रिलेशनशिप में प्रेमिका ने लगाई थी फांसी, डेढ़ माह बाद Boyfriend गया Jail

Updated: IST accused in custody
29-30 नवंबर की दरम्यानी रात 32 वर्षीय युवती का फांसी से लटका मिला था शव, चिरिमिरी पुलिस ने आरोपी प्रेमी को गिरफ्तार कर भेजा जेल

चिरिमिरी. करीब 7 साल से लिव इन रिलेशनशिप में एक साथ रहने वाले प्रेमिका के आत्महत्या मामले में पुलिस ने आरोपी प्रेमी को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस ने आरोपी प्रेमी के खिलाफ धारा 302 के तहत अपराध पंजीबद्ध किया है।

पुलिस के अनुसार मोहन कालोनी हल्दीबाड़ी निवासी चांदनी (32) और ग्राम टूंडरी बिलाईगढ़ निवासी राजेश बंजारी पिता रामरतन बंजारे 6-7 साल से लिव इन रिलेशनशिप में रहते थे। इस बीच उन्होंने एक बच्चे को जन्म दिया। इधर प्रेमिका कई बार शादी का दबाव बना रही थी और प्रेमी समाज स्वीकार नहीं करने की बात से शादी को टाल दे रहा था।

शादी नहीं करने से परेशान और विवाद होने के कारण मृतिका चांदनी ने अपनी दुकान में 29-30 नवम्बर की दरम्यानी रात छत में लगे पाइप से फांसी लगाकर जान दे दी थी। मामले में पुलिस फांसी को संदिग्ध अवस्था में पाए जाने पर एफएसएल टीम अंबिकापुर को सूचना दी गई। एफएसएल टीम ने जांच कर शव को नीचे उतारा गया और शव का पीएम कराया गया था।

मामले में परिजनों ने आरोप लगाकर पुलिस को बताया था कि छह-सात साल से लिव रिलेशनशिप में रहते थे। मृतिका से बीच-बीच में विवाद की स्थिति निर्मित होती थी। जिसके कारण आरोपी मृतिका को मानसिक प्रताडऩा सहित मारपीट किया करता था और आरोपी अपने गृहग्राम शिवरीनारायण में जाकर रहता था।

परिजनों की रिपोर्ट पर डीएसपी अंजली गुप्ता की विवेचना और एफएसएल टीम की प्रथमदृष्टया रिपोर्ट पर और वाद-विवाद के आधार पर प्रेमी राजेश बिलाईगढ़ जिला बलौदा बाजार शिवरीनारायण से गिरफ्तार किया गया है।

दो साल में शादी करने का दिया था शपथ-पत्र

पुलिस के अनुसार घटना के करीब दो माह पहले वाद-विवाद होने के बाद मृतिका ने थाना अपराध पंजीबध कराया था। अपराध दर्ज होने के बाद दोनों की सहमति के आधार पर 9 सितंबर 2016 को आरोपी ने शपथ-पत्र देकर 2 वर्ष के भीतर शादी करने की बात कही थी। वहीं आरोपी अपनी गांव में जाकर रहने लगा था। मामले में मृतिका ने उसके गृहग्राम से आरोपी को पुन: बस में बैठाकर चिरमिरी लाई थी।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???