Patrika Hindi News
UP Election 2017

कोतवाली में शव रखकर परिजनों का हंगामा, पुलिस की पिटाई से मौत का आरोप

Updated: IST lakhimpur kheri
एसपी समेत कई आलाधिकारी मौके पर पहुंच गए और पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर अग्रिम कार्रवाई की बात कही है।

लखीमपुर-खीरी. वारंटी के लिए दबिश डालना धौरहरा पुलिस टीम को भारी पड़ गया। पुलिस को देखकर वारंटी भाग निकला, पुलिस भी वापस लौट गई। दो दिन बाद वारंटी व उसके परिजन वृद्ध पिता का शव लेकर कोतवाली पहुंच गए। परिवार ने आरोप लगाया कि पुलिस की पिटाई से उनकी मौत हुई है। परिवार ने हंगामा काटना शुरू कर दिया। जानकारी मिलते ही एसपी समेत कई आलाधिकारी मौके पर पहुंच गए। एसपी के निर्देश पर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। एसपी ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर अग्रिम कार्रवाई की बात कही है।

जानकारी के अनुसार, धौरहरा कोतवाली क्षेत्र के ग्राम करौहां निवासी सरजू के बेटे अनंतू को किसी मामले में पुलिस को तलाश थी। मंगलवार को उसकी तलाश में पुलिस ने दबिश डाली थी। पुलिस को देख कर अनंतू मौके से फरार हो गया। बताया जाता है कि इसके बाद पुलिस चली आई। गुरुवार को बहू पूनम व गांव के कई लोगों के साथ ससुर सरजू का शव लेकर कोतवाली पहुंच गई। बहू ने आरोप लगाया कि उनके घर पहुंची पुलिस ने सरजू को बिस्तर पर पकड़ लिया और उन्हें बुरी तरह मारा-पीटा जिससे उनकी हालत खराब हो गई। दो दिन बाद भी उनकी हालत नहीं सुधरी और गुरुवार को उन्होंने दम तोड़ दिया।

धीरे-धीरे ग्रामीणों की भीड़ बढ़ती गई। लोगों ने पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और सक्षम अधिकारी को मौके पर बुलाकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग शुरू कर दी। हंगामा के बीच एसआई सुनीत कुमार ने बहू पूनम से एफआईआर के लिए तहरीर मांगी तो वहां मौजूद गांव के ही महेंद्र तिवारी भिड़ गए। तब कोतवाल रामजी चौधरी आए। उन्होंने काफी देर तक लोगों को समझाया-बुझाया और उचित कार्रवाई का आश्वासन देकर शांत कराया।

मामले की जानकारी मिलते ही एसडीएम आलोक कुमार, एसपी मनोज कुमार झा, एएसपी दीपेंद्र नाथ चौधरी, सीओ धौरहरा हरीराम वर्मा व नायब तहसीलदार अभिमन्यु कुमार घटना स्थल पहुंचे। भीड़ के मद्देनजर अतिरिक्त फोर्स के लिए एसओ ईसानगर शिवानंद यादव, कफारा चौकी प्रभारी अनिल कुमार पांडे को भी दलबल के साथ मौके पर तैनात कर दिया गया। काफी देर चली जद्दोजहद के बाद सबको शांत किया गया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। एसपी ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर अग्रिम कार्रवाई किए जाने की बात कही है।

प्रधान व ग्रामीणों का साथ पाकर आ गया वारंटी भी
सरजू की बहू व ग्रामीणों के हंगामा काटने से पुलिस पर काफी दबाव बना। बताते हैं कि स्थिति को भांप कर ग्राम प्रधान व ग्रामीणों ने मृतक के बेटे व वारंटी अनंतू को भी मौके पर बुला लिया। अनंतू पहुंचा और उसने भी पुलिस पर पिता की हत्या का दोषी ठहराया। इसी दबाव का ही नतीजा रहा कि सामने आने के बावजूद पुलिस उसे गिरफ्तार तो कर नहीं सकी बल्कि पोस्टमार्टम से पहले पुलिस को उसी के हाथ से तहरीर लेने को भी मजबूर होना पड़ा।

शराब का आदी व सांस का मरीज था मृतक
लखीमपुर-खीरी। बहू पूनम भले ही अपने ससुर सरजू की मौत के लिए पुलिस को जिम्मेवार ठहरा रही हो मगर ग्रामीणों में मौत को लेकर अलग ही चर्चा हैं। चर्चाओं के मुताबिक मृतक सरजू शराब का आदी था। इसके अलावा उसे काफी समय से श्वांस की भी बीमारी थी। लोग इसकी वजह से भी उसकी मौत होने की आशंका जता रहे हैं। फिलहाल असलियत पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही पता चलेगी।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???