Patrika Hindi News
Bhoot desktop

भाजपा ने राजनाथ को दिया सम्मान पर 'भीष्म पितामा' को भुलाया

Updated: IST LK Advani
अटल बिहारी के कंधे से कंधा मिला कर चलने वाले व्यक्ति एकाएक पार्टी बैनर से गायब

लखनऊ। गृह मंत्री राजनाथ सिंह अपने संसदीय क्षेत्र लखनऊ में दो दिनों के दौरे पर हैं। प्रचंड बहुमत से जीत के बाद उन्होंने कार्यकर्त्ता सम्मान समारोह में भी शिरकत की। इस दौरान शहर भर में उनके स्वागत में कार्यकर्ताओं ने जगह-जगह होर्डिंग्स लगाई हैं। इन होर्डिंग्स में पहली बार मंत्री बने नेताओं से लेकर सीएम तक की तस्वीर तो लगी है लेकिन भाजपा के भीष्म पिताः माह माने जाने वाले लाल कृष्ण आडवाणी का चेहरा नदारद दिखा।

लाल कृष्ण आडवाणी से आखिर क्यों किया किनारा ?

राजनीतिक पंडितों का मानना है की इन दिनों राम मंदिर मुद्दा गर्म है। अयोध्या में बाबरी मस्जिद गिराए जाने के मामले में हाल ही में लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, समेत बीजेपी के 13 नेताओं पर आपराधिक मामला भी चल रहा है। सुप्रीम कोर्ट द्वारा सीबीआई की पिटीशन पर ये फैसला सुनाया गया है। वहीँ दूसरी ओर राजनाथ सिंह साफ़ सुतरी छवि के हैं और देश के गृह मंत्री भी हैं। ऐसे में उनकी तस्वीर के साथ आडवाणी की तस्वीर लगाने विपक्ष को मौके देने जैसा होगा।

राजनीतिक पंडित ये भी मानते हैं की होर्डिंग पर पार्टी लीडरों को जगह देना सोची समझी रणनीति का हिस्सा होता है। कहीं कहीं पार्टी ने राजनाथ सिंह राजनीतिक छवि को ध्यान में रखते हुए ही ऐसा किया होगा। पार्टी परदे के पीछे अडवाणी के साथ है और आने वाले राष्ट्रपति चुनाव में आडवाणी पर पार्टी भरोसा जाता सकती है।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???