Patrika Hindi News

> > > > BJP will draft Vision Document for UP Vidhan Sabha Chunav 2017 on basis current situation

भाजपा विजन डाक्यूमेंट तैयार करने में जुटी, जल्द गठित होगी चुनाव घोषणा पत्र कमेटी

Updated: IST jago janmat
जैसे-जैसे उत्ता प्रदेश के विधान सभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं सभी राजनैतिक दल 2017 के लिए अपने विजऩ डॉक्यूमेंट तैयार करने में जुट गए हैं।

लखनऊ. जैसे-जैसे उत्ता प्रदेश के विधान सभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं सभी राजनैतिक दल 2017 के लिए अपने विजऩ डॉक्यूमेंट तैयार करने में जुट गए हैं। इस विजऩ डॉक्यूमेंट के आधार पर ही राजनैतिक पार्टियां अपना घोषणा पत्र तैयार करेंगी।

भारतीय जनता पार्टी ने अपने पिछले विजऩ डॉक्यूमेंट को ध्यान में रखते हुए मौजूद स्थितियों के आधार पर विधानसभा चुनाव का घोषणा पत्र तैयार करेंगी। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और लखनऊ के महापौर दिनेश शर्मा का कहना है कि उप्र के चुनाव घोषणा पत्र के निर्माण के लिए अभी कमेटी का गठन नहीं किया गया है। जल्द ही कमेटी गठित होगी। उन्होंने बताया कि उप्र के चुनाव में भाजपा का अहम मुद्दा डेवलपमेंट होगा। सपा सरकार विकास की बात तो करती है लेकिन ज़मीनी हकीकत में जनता तक बुनियादी सुविधाएं तक नहीं मिल पा रही हैं। पार्टी के प्रस्तावित विजन डॉक्यूमेंट में भाजपा के २०१२ के अहम बिंदुओं को शामिल किया जाएगा।

ये थे पूर्व विजन डाक्यूमेंट के अहम बिंदु
-नितिन गडकरी ने 16 जनवरी 2012 को जारी किया था विजऩ डॉक्यूमेंट।
-पूर्व विधान सभा केशरी नाथ त्रिपाठी के नेतृत्व में बनी थी 24 सदस्यों की समिति।
-देश के सर का ताज बनेगा, यूपी अव्वल राज्य बनेगाÓ स्लोगन के साथ भाजपा मैदान में उतरी थी।
-किसानों और छात्रों के पलायन को रोकने का किया था वादा।
-सरकारी कार्यालयों में से जातिवाद के खात्मा की थी बात।
-अलसंख्यकवाद का विरोध, मुसलमानों के लिए न्याय और सुरक्षा की गारंटी का था वादा।
-किसानों को उत्पाद की लागत पर 20 प्रतिशत लाभ, किसानों की आय में हर साल 10 हज़ार करोड़ की वृद्धि।
-एपीजे अब्दुल कलाम द्वारा प्रस्तुत प्रोविजन ऑफ़ अर्बन एमेनिटीज इन रूरल एरियाज को लागू करना।
-प्रदेश के बड़े शहरों में मेट्रो और रैपिड ट्रांसपोर्ट की योजना।
-10 अल्ट्रा मेगा पावर के द्वारा 20 हज़ार मेगावाट अधिक बिजली उत्पादन
-कानपुर और अन्य उद्योग केंद्रों का पुनिर्विकास।
-रोजगार के लिए 1 करोड़ नए अवसर।
-प्रदेश में आईटी इंडस्ट्री को मज़बूत करना।
-स्वास्थ्य और शिक्षा पर बल।
आयुर्वेद के प्रयोग के लिए प्रोत्साहन, ग्रामीण क्षेत्रों में विज्ञान शिक्षा के लिए अहम प्रयास।
-पर्यटन सर्किटों का विकास।
वाराणसी, बुंदेलखंड, ब्रज, अवध, नदी पर्यटन आदि का विकास।
-लखनऊ, आगरा और वाराणसी का अन्तरराष्ट्रीय सिटी के रूप में विकास।
-कुपोषण को समाप्त करना। महिलाओं को शिक्षा, सुरक्षा और सम्मान की गारंटी।
-लड़कियों को 18 वर्ष के बाद 2 लाख रूपए।
-पूर्वी उत्तर प्रदेश के विकास के लिए बिहार मॉडल।
-बुंदेलखंड की सबसे बड़ी समस्या पानी दूर करना।
-प्रदेश की भाषा, संस्कृति, कला और साहित्य को प्रोत्साहन और पुनर्विकास।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे