Patrika Hindi News

राजधानी लखनऊ का दो दिन के लिए हवाई सम्पर्क कटा, पहली बार ऐसा हुआ

Updated: IST airport
हालांकि एयरपोर्ट के निदेशक पीके श्रीवास्तव ने कहा कि हम डीवीओआर जल्द से जल्द ठीक करने का प्रयास कर रहे हैं। किसी अंतर्राष्ट्रीय उड़ान पर कोई असर नहीं पड़ा है।

लखनऊ. चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट से रोजना कई घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ाने हैं। एयरपोर्ट के डीवीओआर (डॉप्लर वेरी हाई फ्रीक्वेंसी ओमनी डायरेक्शनल रेंज) में तकनीकी खराबी आ जाने से शनिवार शाम करीब चार बजे से विमानों का संचालन ठप हो गया। ऐसा पहली बार हुआ है जब दो दिनों तक अमौसी एयरपोर्ट का हवाई संपर्क देश-दुनिया से कटा रहेगा। ऐसे में दो दिनों तक की सभी उड़ाने रद्द हो गई हैं और इससे यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। एक यात्री ने बताया कि हमें दिल्ली जाना था लेकिन इसके बाद अब कैसे जाएंगे यह कहना मुश्किल है। वहीं एयरपोर्ट के पास टिकट के पैसे वापस करने के लिए भी पैसा नहीं है।

डीवीओर में खराबी की जानकारी मिलते ही इंजीनियरों ने उसे ठीक करने के लिए काफी मशक्कत की लेकिन अभी तक उन्हें सफलता नहीं मिल पाई है। इससे शाम चार बजे से लैंडिंग सेवा बाधित है। इस खराबी के चलते लखनऊ एयरपोर्ट पर सभी सेवाएं अगले आदेश तक के लिए रद्द कर दी गई हैं। दोपहर 1.30 बजे तक अमौसी एयरपोर्ट पर विमानों का आवागमन सामान्य चल रहा था, लेकिन दोपहर दो बजे डीवीओआर सिस्टम अचानक फेल हो गया। इससे विमानों की लैंडिंग और टेक ऑफ होना बंद हो गया। एयर ट्रैफिक कंट्रोल (एटीसी) से लेकर विमानों के संचालन से जुड़े अफसरों व इंजिनियरों सभी में अफरातफरी मच गई। लखनऊ एयरपोर्ट के निदेशक पीके श्रीवास्तव ने हालांकि कहा कि हम डीवीओआर जल्द से जल्द ठीक करने का प्रयास कर रहे हैं। किसी अंतर्राष्ट्रीय उड़ान पर कोई असर नहीं पड़ा है।

दो दिनों तक देश और दुनिया से कटा रहेगा संपर्क

एयरपोर्ट के डीवीओआर (डॉप्लर वेरी हाई फ्रीक्वेंसी ओमनी डायरेक्शनल रेंज) में तकनीकी खराबी आ जाने के बाद इसे ठीक करने में दो दिन का समय लगेगा। ऐसे में न तो यहां से कोई उड़ान भर पाएगी और न ही किसी विमान की यहां लैंडिग होगी। ऐसे में देखा जाए तो यह दो दिन एयरपोर्ट के लिए काभी भारी रहेगा। कई यात्रियों को यहां से फ्लाइट्स पकडऩी है और कई को दूसरे जगहों से यहां आने के लिए फ्लाइट्स पकडऩी है। अब ऐसे में यह संभव नहीं है और उनके लिए एयरपोर्ट अथारिटी क्या व्यवस्था करती है। यह कहना आसान नहीं होगा।

लखनऊ हवाई अड्डे के बारे में

-लखनऊ हवाई अड्डे या चौधरी चरण सिंह अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा लखनऊ में अमौसी में स्थित है।
-यह भारत में 13वां सबसे व्यस्त हवाई अड्डा है और उत्तर और मध्य भारत में दूसरा माना जाता है। हवाई अड्डे 4.8035 किलोमीटर वर्ग के एक क्षेत्र शामिल हैं।
-भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) लखनऊ हवाई अड्डे के प्रभार में है। भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण बनाने उन्नयन, को बनाए रखने और भारत में नागरिक उड्डयन के बुनियादी ढांचे के प्रबंधन के लिए जिम्मेदार है।
-इस एयरपोर्ट का निर्माण 1986 में किया गया था, यात्रियों की वृद्धि के साथ, भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण के लिए हवाई अड्डे को अपग्रेड करने का निर्णय लिया।
-जुलाई 2008 में इस हवाई अड्डे का नाम चौधरी चरण सिंह हवाई अड्डा कर दिया गया था।
-मई 2012 में अंतरराष्ट्रीय दर्जा मिला।
-जुलाई 2013 में, हवाई अड्डे एएआई की 'बेस्ट एयरपोर्टÓ जोधपुर हवाई अड्डे के साथ-साथ पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???