Patrika Hindi News

> > > > Five top Bahubalis trying for contest in UP Vidhan sabha Chunav 2017

इन बाहुबलियों की टक्कर से सियारी अखाड़ा बनेगा विधानसभा चुनाव

Updated: IST
बीएसपी तीन ठाकुर बाहुबिलया पर खेलेगी दांव, मुस्लिम बाहुल्य सदर सीट पर माफिया मुख्तार और अतीक की दावेदारी

लखनऊ. आगामी विधानसभा चुनाव में पूर्वांचल के बाहुबलियों के चुनाव मैदान में कूदने की तैयारियां कर ली हैं। कुछ महीने होने वाले विधानसभा चुनाव में जिले की अलग-अलग सीट पर प्रदेश के बड़े बाहुबली अपनी दावेदारी ठोंकने को तैयार हैं। सपा और बसपा के टिकट पर एक-दो नहीं बल्कि पांच बाहुबली अपनी किस्मत आजमाने की तैयारी कर रहे हैं।

जहां एक ओर इन बाहुबलियों के चुनाव लड़ने की सुगबुगाहट से राजनैतिक गलियारों में हलचल होनी शुरू हो गई है वहींप्रदेश की खुफिया एंजेंसियों के साथ चुनाव आयोग की धड़कने तेज हो गई हैं। ऐसे में जिम्मेदारों के सामने शांतिपूर्ण व निष्पक्ष चुनाव कराने की चुनौती और प्रबल हो गई है।

तमाम बाहुबली चुनाव में अपनी दावेदारी दिखा रहे हैं। वहीं राजनैतिक पार्टियां भी इन बाहुबलियों से पूरा फायदा उठाने का प्रयास कर रही हैं। बाहुबलियों को चुनाव में उतारने के लिए बसपा ने जिला जौनपुर प्राथमिक्ता दी है। बसपा ने ठाकुर कैंडीडेट्स को उतारकर ना सिर्फ जौनपुर में, बल्कि उससे सटे जिलों में मतों को पार्टी के पक्ष में करने की रणनीति बनाई है। बीएसपी ने भदोही से लगी सीट मड़ियाहूं से मुन्ना बजरंगी की पत्नी को उम्मीदवार घोषित कर रखा है। पूर्व सांसद धनंजय सिंह अपनी पुरानी सीट मल्हानी से चुनाव लड़ाने की तैयारी कर रहे हैं। पिछले दिनों बहुजन समाजवादी के उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़कर एमएलसी बनने वाले माफिया बृजेश सिंह भी अपनी पत्नी को यहां की जफराबाद सीट से चुनाव मैदान में उतारने की तैयारी कर रहे हैं।

जहां एक ओर बीएसपी ठाकुर बाहुबलिया के सहारे वोटों को अपने फेवर में करने में लगी है वहीं जौनपुर सदर की सीट तीन मुस्लिम कैडीडेट के बीच में फंसती नजर आ रही हैं फिलहाल इस सीट पर कांग्रेस का कब्जा है और नदीम जावेद वर्तमान विधायक हैं। सूत्रों की मानें तो नदीम जावेद सपा में आकर उसी सीट से अपनी उम्मीदवारी पेश कर सकते हैं।

जौनपुर की सदर मुस्लिम बहुल सीट होने के कारण दो मुस्लिम माफिया भी इस सीट पर अपनी नजर लगाए है। एक तरफ मुख्तार अंसारी हैं, जो मऊ की सीट अपने बेटे को सौंप कर एक मुस्लिम बहुल क्षेत्र की सुरक्षित सीट तलाश रहे हैं। वहीं दूसरी ओर इलाहाबाद के माफिया अतीक हैं जो फूलपुर की सीट अपने भाई अशरफ के लिए छोड़ कर इस सीट से अपनी दावेदारी सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह के सामने पेश कर दी है।

इन नव विधानसभा पर पड़ेगा बाहुबलियों का असर

मड़ियाहूं, जफराबाद, केराकत, जौरपुर सदर, मल्हनी, शाहगंज, बदलापुर, मुंगरा बादशाहपुर, मछलीशहर

बसपा से कई बाहुबली मैदान में।

पुलिस की खास तैयारी

जहां एक और इन बाहुबलियों के चुनाव मैदान में कूदने से अभी से चुनाव महौल गरमाने लगा है वहीं इस खबर से पुलिस प्रशासन सहित चुनाव आयोग की नीदें उड़ गई है। हालांकि जिम्मेदार चुनाव को शांतिपूर्ण व निष्पक्ष कराने के दावे कर रहे हैं। एडीजी कानून व्यवस्था दलजीत सिंह चौधरी का कहना है कि जौनपुर में माफियाओं द्वारा चुनाव मैदान में उतरने की सुगबुगाहट है जिसको लेकर पुलिस तैयार है पुलिस पूरी तरह से निष्पक्ष चुनाव कराएगी।

किस माफिया पर कितने मुकदमें

नाम विधानसभा सीट मुकदमें

मुन्ना बजरंगी मडियाहूं 42

धनंजय सिंह मल्हानी 30

बृजेश जफराबाद से पत्नी को लड़ा सकते हैं चुनाव 39

मुख्तार अंसारी सदर 38

अतीरक अहमद सदर 44

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे