Patrika Hindi News

> > > > Lucknow police arrested 5 robbers

UP Election 2017

क्राइम ब्रांच के 26 और पारा पुलिस के 8 सिपाहियों ने पकड़े 5 डकैत

Updated: IST lucknow police
पूरा परिवार डालता था कच्छा बनियान पहनकर डकैती, काकोरी और पारा में डकैती-गैंगरेप की घटना का खुलासा, क्राइम ब्रांच के 26 और पारा पुलिस के 8 लोगों की टीम ने पकड़ा, आईजी ने दिया 15 हजार रुपये ईनाम

लखनऊ. राजधानी के काकोरी और पारा थाना क्षेत्र में पिछले दिनों डकैती के दौरान किशोरी से हुई गैंगरेप की सनसनीखेज वारदात को अंजाम देने वाले पांच बदमाशों को क्राइम ब्रांच और पारा पुलिस ने गिरफ्तार कर घटना का खुलासा करने का दावा किया है। पकड़े गए बदमाश सीतापुर के रहने वाले हैं उनका पिछले दिनों बाराबंकी में करोड़ों की लूट करने वाले गिरोह से तार जुड़े हैं। एसएसपी मंजिल सैनी ने बताया पकड़े गए बदमाशों से गिरोह में शामिल अन्य 7 बदमाश अभी फरार हैं जिनकी तलाश की जा रही है। बदमाशों ने काकोरी के दुबग्गा में अपना ठिकाना बना रखा था। आईजी जोन लखनऊ ने खुलासा करने वाली पुलिस टीम को 15 हजार रुपये के नगद ईनाम से पुरस्कृत करने की घोषणा की है।

एसएसपी मंजिल सैनी ने बताया पतौरा गांव निवासी कमलेश शर्मा अपनी कविता शर्मा 12 वर्षीय पुत्री गीता शर्मा और दो छोटे-छोटे बच्चों (सभी काल्पनिक नाम) के साथ रहते हैं। पिछले माह 26 सितंबर की देर रात रात परिवार के साथ घर में सो रहा था। रात करीब एक बजे सात-आठ असलहा, धारदार हथियार और लोहे के रॉड से लैस बदमाश आये। बदमाशों ने कहा तुम्हारे घर में चोरी हो गई है तुम सो रहे हो। जब पीड़ित ने दरवाजा नहीं खोला तो बदमाशों ने बेल्चे से उनका दरवाजा तोड़ दिया। आवाज सुनकर वह जैसे ही गेट पर पहुंचा वैसे ही बदमाशों ने लोहे की रॉड उसके सिर पर मार दी थी। चीख सुनकर उसकी पत्नी दौड़ी तो उसे भी बदमाशों ने बच्चों सहित बेरहमी से पीटकर घायल कर दिया था।

उन्होंने बताया बदमाशों ने मारपीट कर घर से बर्तन, मकान के कागजात, 2000 रुपया, पायल व झुमकी लूटकर 12 वर्षीय लड़की को घर से करीब 600 मीटर दूर खेत में ले जाकर उसके साथ सामूहिक दुराचार किया था। इस सम्बन्ध में थाना पारा पर मु.अ.स. 425/2016 धारा 395/397/376डी भा.द.वि. व पॉक्सो एक्ट का मुकदमा दर्ज किया गया था। घटना के खुलासे के लिए क्राइम ब्रांच, सर्विलांस के साथ पुलिस की टीम को भी लगाया गया था। फिंगरप्रिंट, डॉग स्कवॉड और फॉरेंसिक टीम, मुखबिर और साक्ष्यों के आधार पर पुलिस ने मास्टरमाइंड शम्भू, इन्दल ,चेतराम, उदयराज, दिनेश उर्फ मनोहर, धनेश सहित पांच बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया है।

पांच आरोपितों ने किशोरी से किया था गैंगरेप

पूंछतांछ पर अभियुक्तों ने लूटपाट और गैंगरेप की घटना को कबूल करते हुए बताया कि किशोरी के साथ इन्दल, चेतराम, उदयराज, दिनेश उर्फ मनोहर, धनेश ने गैंगरेप किया था। पकड़े गए बदमाश पारा एवं काकोरी में रेलवे लाईन के किनारे शाहपुर बमरौली में मकान बनाकर रहते हैं, वहीं पर पूरा गिरोह इक्ट्ठा होकर घटना करता था।

कच्छा बनियान पहनकर डालते थे डकैती

शम्भू रावत का मकान भी लखनऊ में रेलवे लाईन के किनारे था जिसने घटना के दो दिन बाद अपनी मकान बेचकर ग्राम जरहरा थाना इन्दिरानगर में किराये की मकान में रहता था। पूछताछ में आरोपितों ने बताया वह घटना करने जाते समय एक स्थान पर अपने-अपने कपड़े उतार कर कच्छा बनियान पहनकर घटना को अंजाम देते थे।

बाराबंकी में हुई लूट में शामिल थे बदमाश

बदमाशों ने बताया इनका डकैती का एक बड़ा गैंग है जिसके इससे पहले लखनऊ एवं बाराबंकी में फतेहपुर में फरवरी 2016 में ढाई करोड़ की डकैती डाली गयी थी। इसमें शम्भू का भाई बिरजू एवं बेटा नरेश तथा भांजा पिण्टू रावत सहित 17 लोग गिरफ्तार किये गये थे जिनके पास दो करोड़ बीस लाख रूपये की बरामदगी हुई थी। सभी अभी भी जिला कारागार बाराबंकी में निरूद्ध है। जबकि राम मनोहर उर्फ दिनेश काफी समय से अपने मूल निवास से लापता चल रहे हैं।

बाप बेटे, भांजे भाई सहित पांच गिरफ्तार

क्राइम ब्रांच और पारा पुलिस ने शम्भू रावत पुत्र दीनबन्धु रावत, गुडडू रावत पुत्र शम्भू रावत, सरोज रावत पुत्र शम्भू निवासी ग्राम अहिबनपुर थाना सदरपुर सीतापुर, इन्दल पुत्र हरिहर निवासी ग्राम दहला रामपुर मथुरा सीतापुर, चेतराम पुत्र राम गुलाम निवासी छंगापुरवा थानगांव सीतापुर को गिरफ्तार किया है जिनके कब्जे से एक तमंचा .315 बोर, 2 कारतूस, 12 मोबाईल फोन, बटुला पीतल 22 किग्रा, पर्स, एक जोड़ी चांदी की पायल, एक जोड़ी बिछिया, एक पायल, बरामद हुई है।

यह बदमाश हैं फरार

दिनेश उर्फ मनोहर, पूरन पुत्र दीनबन्धु ग्राम अहिबनपुर सदरपुर सीतापुर, धनेश, उदयराज पुत्र हरिहर निवासी दहला थाना रामपरु, ओंकार पुत्र जन्ना निवासी ग्राम चन्दौली थाना थानगांव सीतापुर, किशन पुत्र बड़कन निवासी गंगा का पुरवा थाना थानगांव सीतापुर और राजेश पुत्र भारत निवासी दहला थाना रामपुर मथुरा सीतापुर अभी फरार हैं। पकड़े गए मास्टरमाइंड शम्भू के खिलाफ सीतापुर सहित कई थानों में संगीन दर्जनों मुकदमें दर्ज हैं।

आईजी जोन ने इनको दिया 15 हजार रुपये ईनाम

अक्षय कुमार, प्रभारी सर्विलांस क्राईम ब्रान्च, जेबी पाण्डेय, अखिलेश चन्द्र पाण्डेय,रमेश सिंह रावत, धीरेन्द्र शुक्ला, भृगु नाथ ओझा, अमरेश त्रिपाठी, योगेंन्द्र कुमार, संजय कुमार, वीर सिंह, सरताज, सूरज, राम नरेश कनौजिया, गोविन्द, राम निवास शुक्ला, हिमांशु सिंह, देवेन्द्र सिंह, मोहित कुमार, सुदीप कटियार, लवकुश मिश्रा, राजाराम पाण्डेय, आनन्द सिंरोही, आलोक कुमार पाण्डेय, सुनील यादव, राघवेन्द्र सिंह, प्रमोद पाण्डेय और पारा पुलिस के अनुराग मिश्रा थानाध्यक्ष, राजीव यादव, राजेश यादव, हर्षित सिंह, सियाराम, शहाबुद्दीन, सन्तोष कुमार और अंकित चौधरी को आईजी ने 15 हजार रुपये इनाम दिया है।

यह है काकोरी का घटनाक्रम

थाना क्षेत्र काकोरी के बाजनगर निवासी किसान राजाराम अपने परिवार के साथ रहते हैं। पीड़ित 27 अक्टूबर की रात अपने घर में कमरे के अंदर सो रहा था। घर में उसके भाई दयाराम और उनकी पत्नी लक्ष्मी बरामदे में सो रही थी वहीं उनका भाई शियाराम भी सो रहा था। रात करीब दो बजे करीब एक दर्जन असलाधारी बदमाशों ने उसके घर में धावा बोल दिया था। अचानक से घुसे बदमाशों ने पहले राजाराम के कमरे की कुंडी बाहर से बन्द कर दी और दोनों भाइयों पर लोहे की रॉड से हमला कर दिया। दोनों लहूलुहान हो गए तो बदमाशों ने लक्ष्मी से बक्से की चाभी मांगी। विरोध करने पर उसे पीटा और चाभी लेकर करीब ढाई लाख रुपये के जेवरात लूट लिए साथ ही वह जो जेवर पहने थी उन्हें भी उतरवा लिया और फायरिंग करते हुए भाग गए थे।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???