Patrika Hindi News

> > > > Online patient care portal start for patient in SGPGI

अब SGPGI में इलाज के लिए नहीं लगानी होगी भीड़, ऑनलाइन सिस्टम से ऐसे उठायें लाभ

Updated: IST SGPGI
इसका उपयोग संस्थान आने वाले नये मरीजों के साथ-साथ पुराने मरीज जो पहले से पंजीकृत हैं, भी कर सकते हैं। यह सेवा इंटरनेट के माध्यम से कहीं भी एवं कभी भी उपयोग की जा सकती है।

लखनऊ। एसजीपीजीआई की ओर से मरीजों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए आन लाइन पेशेंट केयर पोर्टल के बीटा वर्जन का शुभारम्भ किया गया। जिसका उपयोग रोगी घर बैठे कर सकता है। यह पोर्टल संस्थान की वेबसाईट http://www.sgpgims.in/ पर उपलब्ध है। इसका उपयोग संस्थान आने वाले नये मरीजों के साथ-साथ पुराने मरीज जो पहले से पंजीकृत हैं, भी कर सकते हैं। यह सेवा इंटरनेट के माध्यम से कहीं भी एवं कभी भी उपयोग की जा सकती है।

इन सुविधाओं का करें उपयोग

- नये मरीज अपना ऑनलाइन पंजीकरण कर सकते हैं ।

- चिकित्सकीय परामर्श हेतु मरीजों का अप्वाइंटमेंट इस पर हो सकता है।

- मरीजों के अप्वाइंटमेंट निरस्तीकरण हेतु इसका उपयोग कर सकते हैं।

- जांच रिपोर्ट प्राप्त करने और देखने हेतु इसका उपयोग कर सकते हैं।

- मरीजों के अकाउंट को प्रिंट करने एवं देखने हेतु।

- मरीजों के सम्पूर्ण इलेक्ट्रानिक मेडिकल रिकार्ड को देखने हेतु।

- पेशेंट इंप्लायर्स रिकार्ड को प्रिंट एवं अवलोकन हेतु।

- इस पोर्टल पर लाॅगिन करने के लिए मरीज अपने रजिस्ट्रेशन कार्ड पर लिखा दस अकों का नंबर अंकित करेगा जिसके बाद अपना पासवर्ड बनाने के लिए नंबर सिस्टम द्वारा मरीज के रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेजा जायेगा। जिसको मरीज के द्वारा गुप्त रखना चाहिए जिससे मरीज के रिकार्ड की गोपनीयता कायम रह सके।

- संस्थान ने पेशेन्ट पोर्टल का प्रारम्भ मरीज हित में किया गया प्रयास है। जिससे मरीज इसका उपयोग करके भीड़ तथा अनावश्यक समय व्यय से बच सके। यह पोर्टल बीटा वर्जन में उपलब्ध है और सम्भव है कि प्रारम्भ में उपयोग में कुछ समस्यायें हों। यदि इस पोर्टल के उपयोग में कोई समस्या हो तो कृपया [email protected] या फोन नंबर 8004904478, 8004904712 पर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। पेशेन्ट पोर्टल सुधार करने हेतु आप अपने सुझाव भी दे सकते हैं।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे