Patrika Hindi News

समीक्षा बैठक में निर्माण निगम के अफसरों की इस तरह खुली पोल

Updated: IST Lucknow Health News
चिकित्सा शिक्षा विभाग की अपर मुख्य सचिव डॉ अनीता भटनागर जैन ने आज समीक्षा बैठक की तो निर्माण निगम के अफसरों की पोल खुल गई।

लखनऊ. चिकित्सा शिक्षा विभाग की अपर मुख्य सचिव डॉ अनीता भटनागर जैन ने आज समीक्षा बैठक की तो निर्माण निगम के अफसरों की पोल खुल गई। केजीएमयू में चल रहे निर्माण कार्यों के बारे में जब अफसरों से पूछताछ की गई तो वे कोई जानकारी नहीं दे सके। इस पर नाराज अपर मुख्य सचिव ने इन अफसरों के खिलाफ कार्रवाई के लिए राजकीय निर्माण निगम के प्रबंध निदेशक को पत्र लिखा है।

डॉ भटनागर ने आज किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी, आरएमएल, एसजीपीजीआई व सीबीएमआर द्वारा कराये जा रहे प्रत्येक कार्य की समीक्षा की। बैठक में कार्यो की समीक्षा के दौरान उनकी अपडेट फोटो देखी गई। जिन कार्यो के फोटोग्राफ उपलब्ध नहीं कराये गये थे उन्हें 01 दिन में उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए। यह भी चेतावनी दी गई कि भविष्य में समीक्षा विभाग द्वारा उपलब्ध कराये गये बार चार्ट के सापेक्ष अपडेट फोटोग्राफ के साथ होगी। मिडवाइफ प्रशिक्षण के भवन का कार्य फरवरी 2017 में पुनरीक्षित प्रस्ताव स्वीकृत किया गया था लेकिन बैठक में निर्माण निगम के सम्बन्धित रेजीडेण्ट इंजीनियर से पूछने पर कार्य के लिए कोई बार-चार्ट नहीं उपलब्ध करा पायें। करीब 04 माह की अवधि से भवन हेतु के लिए न तो बार चार्ट बनाया गया और न ही कोई कार्य शुरू किया गया।

आरएमएल व पीजीआई से सम्बन्धित कार्यो की भी समीक्षा की गयी। आरएमएल में निर्माण निगम द्वारा लगाया गया आरओ सिस्टम क्रियाशील नहीं है। निदेशक आरएमएल द्वारा एकेडमिक ब्लाक के निर्माण व आंकोलॉजी भवन में अतिरिक्त निर्माण कार्य की बेहद धीमी गति को लेकर असंतोस व्यक्त किया गया। बैठक में अपर मुख्य सचिव द्वारा यह कहा गया कि निर्माण निगम द्वारा सीबीएमआर से संबंधित कार्यो का जो आगणन उपलब्ध कराया गया था, उसमें अनेक त्रुटियां थी। उसकी लागत गलत दर्शायी गयी थी।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???