Patrika Hindi News
UP Election 2017

इस चुनाव में 6 गुना ज्यादा युवा जिंदगी में पहली बार डालेंगे वोट 

Updated: IST Voters in India
साढ़े पांच लाख डुप्लीकेट वोटर पाए गएमतदाता सूची में, 27.29 लाख वोटर बढ़े18-19 वर्ष के वोटर 24.53 लाख हुएमहिला वोटर- 6ः50 करोड़पुरूष वोटर- 7ः68 करोड़थर्ड जेंडर- 7,272

Anil K. Ankur
लखनऊ। यूपी के विधानसभा चुनाव में बीते सालों की अपेक्षा इस साल नए वोटरों की संख्या ज्यादा होगी। छह गुना ऐसे वोटर होंगे जो जिंदगी में पहली बार वोट डालेंगे। वोटर लिस्ट के पुनरीक्षण में चुनाव आयोग को युवा वोटरों और महिलाओं की भागीदारी वोटर लिस्ट में बढ़ाने में काफी सफलता मिली है। जब वोटर लिस्ट का पुनरीक्षण शुरू हुआ था तो वोटर लिस्ट में केवल 3.89 लाख वोटर 18 से 19 वर्ष आयु वर्ग के थे। अभियान के दौरान इस आयु वर्ग के 20.57 लाख नए वोटर जुड़े हैं और उनकी संख्या बढ़कर 24.53 लाख हो गई है। महिला वोटर भी इस बार बीते सालों की अपेक्षा ज्यादा बनी हैं। नाम जुड़वाने के लिए आए कुल आवेदन में 55 फीसदी आवेदन महिलाओं के थे। सबसे अधिक 68.55 हजार फॉर्म महिलाओं के नाम जोड़ने के लिए मीरजापुर से आए। चुनाव आयोग के अधिकारी इसे लोकतंत्र के लिए एक सार्थक कदम बता रहे हैं।
महिला वोटरों की बढ़ी भागीदारी
हम बताते चलें क जब वोटरों को जोड़ने का काम शुरू हुआ था तो जनसंख्या के हिसाब से महिला वोटरों का अनुपात 58.78ः था जो बढ़कर 60.38ः हो गया है। वहीं, जेंडर रेशियो 827 से बढ़कर 839 हो गया है। जनसंख्या के हिसाब से वोटर अनुपात 60 से बढ़कर 63 फीसदी हो गया है।
युवा वोटरों मंे भी महिलाएं आगे
यूपी की वोटर लिस्ट बनने में युवाओं ने ज्यादा उत्सुकता दिखाई है। उत्तर प्रदेश में अब 14.12 करोड़ वोटर हो गए हैं। यूपी में वोटरों की संख्या बढ़कर अब 14.12 करोड़ हो गई है। बीते साल 15 सितंबर को जब अभियान शुरू हुआ था तब प्रदेश में 13.85 करोड़ वोटर थे। अच्छी बात यह है कि वोटर लिस्ट में महिलाओं और युवाओं की भागीदारी काफी अच्छी हुई है। जानकारों का कहना है कि इसका सीधा असर चुनाव के ट्रेंड व पार्टियों की सियासी रणनीति पर पड़ेगा। इस बात को पोलिटीकल पार्टियां समझ गई हैं और वे इस आधार पर काम भी कर रही हैं।
उत्तर प्रदेश में चुनाव आयोग ने 15 सितंबर से 15 नवंबर तक वोटर लिस्ट में नाम जुड़वाने, कटवाने, बदलवाने या गलतियों के संशोधन से जुड़े आवेदन मांगे थे। चुनाव आयोग ने अब वोटर लिस्ट का प्रकाशन कर दिया है। मुख्य निर्वाचन अधिकारी टी वेंकटेश ने बताया कि रिवीजन अभियान के दौरान 32.36 लाख वोटर लिस्ट से हटाए गए हैं। इनमें 5.53 लाख डुप्लीकेट वोटर थे जबकि 14.99 लाख वोटर दूसरी जगह शिफ्ट होने के कारण सूची से हटाए गए हैं। ऐसे में वोटर लिस्ट में वास्तविक वृद्धि 27.29 लाख रही।
ि

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???