Patrika Hindi News
Bhoot desktop

पढ़िए आखिर क्यों बैठी लखनऊ - आगरा एक्प्रेस वे की जांच

Updated: IST lucknow agra expressway enquiry
योगी सरकार के हाथ लगा ये सुराग तो बिठाई गयी जांच

लखनऊ। योगी सरकार ने अखिलेश सरकार के एक और प्रोजेक्ट को आड़े हाथों लिया है। सरकार ने जेपीएनआइसी, जनेश्वर मिश्र पार्क,रिवर फ्रंट, पुराने लखनऊ में हुए सौन्दर्यकरण के कार्यों के बाद अखिलेश सरकार के चर्चित ड्रीम प्रोजेक्ट आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर आँखें टेडी की हैं।

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे के इस्तेमाल से बेशक जनता को सुकून है लेकिन योगी सरकार का दावा है की इस प्रोजेक्ट की आड़ में कई पेंच छुपे हैं। इस पूरे प्रोजेक्ट में जमीनों के अधिग्रहण और मुआवजे के जांच के आदेश दिए हैं। योगी सरकार ने एक्सप्रेस-वे के किनारे के 10 जिलों के डीएम को पत्र लिखकर जांच करने को कहा है।

आखिर क्यों बैठी जांच

दरअसल भाजपा नेताओं का कहना है की इस मामले में उन्हें लगातार शिकायतें मिल रही थी। यही कारण था की चुनाव से पहले से ही वे ये बात कह रहे थे की सूबे में भाजपा सरकार बनते ही रिवर फ्रंट और आगरा एक्सप्रेसवे की जांच बिठाई जाएगी। यूपी सरकार ने इस बाबत जिलाधिकारियों को पत्र भेज कर पिछले 18 महीने में हुए जमीन खरीद के हर मामले की रिपोर्ट मांगी है। इन जिलाधिकारयों के जांच दायरे में एक्सप्रेस-वे के किनारे बेस करीब 230 गांव आएंगे। आरोप है कि कुछ चुनिंदा लोगों को फायदा पहुंचाने के लिए उनकी कृषि जमीन को रिहाइशी जमीन की श्रेणी में दिखाया गया ताकि उन्हें सरकार से ज्यादा मुआवजा मिल सके। कहा ये भी जा रहा है की आगरा एप्रेस्सवे की योजना स्वीकृति से पहले ही हाईवे के रास्ते गुजरने वाली ज़मीन ले ली गयी और फिर उनपर एप्रेस्सवे की स्वीकृति के चलते दो-तीन गुना मुआवज़ा लिया गया।

इस एक्सप्रेस-वे की गुणवत्ता की जांच के लिए केन्द्रीय संस्था आरआईटीईएस से संपर्क किया गया है।

ये योजना भी खटाई में

लखनऊ आगरा एक्सप्रेस वे को आगे पूर्वांचल एक्सप्रेसवे से जोड़ने की योजना थी। ये एक्सप्रेस-वे लखनऊ से आजमगढ़ को जोड़ता हुआ बलिया जिले के भरौली तक प्रस्तावित था। लगभग 347.5 किलोमीटर का निर्माण 12 हजार 395 करोड़ रुपए से होना प्रस्तावित था। इसके बनने के बाद ये उम्मीद लगाई जा रही थी की दिल्ली से बलिया की दूरी 10 से 11 घंटे में तय हो सकेगा। प्रदेश के 10 जनपदों लखनऊ, बाराबंकी, अमेठी, सुल्तानपुर, फैजाबाद, अम्बेडकरनगर, आजमगढ़, मऊ, गाजीपुर ‍व बलिया से समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे को गुजारे जाने की तैयारी थी।लेकिन अब फिलहाल इस योजना पर रोक लगा दी गयी है।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???