Patrika Hindi News

> > > > UP Pollution Control Board Activate Noise Pollution Device

अब स्क्रीन पर देखिए शहर में कहां है सबसे ज्यादा 'हो हल्ला'

Updated: IST
उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने लगाया शहर में ध्वनि प्रदूषण बोर्ड

लखनऊ। आपके इलाके में कितना हो हल्ला होरहाहै। आप दिन और रात कितनेशोरमें रह रहेहैं यह लोगों को बताने के लिए शहर के पांच क्षेत्रों में ध्वनि प्रदूषण इलेक्ट्रॉनिक मीटर लगायाहै। इस मीटर के जरिए एक बोर्ड के डिस्पले पर लोगों को अपने शहर केशोरका ब्यौरा मिलेगा। यह बोर्ड आईटी चौराहा, गोमती नगर, अलीगंज स्थित आंचलिक विज्ञान नगरी और एयरपोर्ट पर लगाया गयाहै। इस डिवाइस को उप्र प्रदूषण नियंत्रण विभाग शुरू कर रहा है। इससे इन क्षेत्रों से गुजरने वाले लोगों को बड़े से स्क्रीन पर ध्वनि प्रदूषण की जानकारी मिलेगी।

उप्र प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की मुख्य पर्यावरण अधिकारी मधु भारद्वाज ने बताया कि शहर में ध्वनि प्रदूषण दिन पर दिन बढ़रहाहै। वाहनों की बढ़ती संख्या इसका मुख्य वजहहै। हम इस डिवाइस को लगाकर लोगों को जागरूक करने का प्रयास करेंगे। उन्हें खुद यह पता चल सकेगा कि वहां जहां रह रहेहै।वहांशोरमानक के अंदरहैया ज्यादा।

लोगों को ध्वनि प्रदूषण के प्रति जागरूक करने की पहल

डॉ भारद्ववाज ने बताया कि अभी तक हम ध्वनि प्रदूषण को रिकॉर्ड कर लेते थे। मगर अब शहर के पांच जगहों पर लगाए जाने वाले इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस के जरिए लोगों को बताऐंगे कि उनके शहर में कहां कितनाशोरमचरहाहै?

डिस्प्ले में जिस क्षेत्र का नाम लाल रंग में दिखे वहांशोरमानक से अधिक

डिस्पले में जिस क्षेत्र का नाम सफेद रंग में दिखे वहांशोरमानक के अनुसार

ध्वनि प्रदूषण का मानक- रिहायशी क्षेत्र- दिन में 55.0 डेसीबल

रात में 45.0 डेसीबील


शहर के इन क्षेत्रों मेंहैअधिकशोरदिन रात

इंदिरा नगर 69.5 61.7

अलीगंज 68.6 58.93

विकास नगर 67.8 57.6

गोमती नगर 67.4 57.2

ध्वनि प्रदूषण से बचाव के उपाय

बेवजह हॉर्न का इस्तेमाल न करें
प्रेशर हॉर्न प्रतिबंधितहैतो इसके इस्तेमाल से बचें
टेपरिकॉर्डर तेज ध्वनि में बजाने से बचें

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे