Patrika Hindi News

UP Vidhansabha की सुरक्षा से कई सालों तक हुआ खिलवाड़, सुरक्षा बढ़ाने की फाइल को भी अटकाया

Updated: IST UP Vidhan Sabha
यूपी विधानसभा (UP Vidhansabha) की सुरक्षा को लेकर खड़े हो रहे सवाल।

लखनऊ. यूपी विधानसभा (UP Vidhansabha) में विस्फोटक मिलने के बाद सुरक्षा व्यवस्था को लेकर अब भले ही संजिदगी दिखाई जा रही हो, लेकिन सुरक्षा के नाम पर लापरवाही सालों से बरती जा रही है। इसका प्रमाण सुरक्षा व्यवस्था और सुरक्षा बलों से जुड़ी फाइल को 8 साल तक लटकाना भी था। करीब आठ साल पहले ही विधान भवन, एनेक्सी, बापू भवन और विकास भवन पर आतंकी हमलें और अन्य सुरक्षा कारणों से फोर्स बढ़ाने की मांग की गई। इस संबंध में 8 साल पहले एएसपी विधानसभा और मुख्य आरक्षी अधिकारी ने करीब 336 अतिरिक्त पद विधानसभा सुरक्षा बढ़ाने के लिए मांगे थे। लेकिन इस पर ध्यान नहीं दिया गया।

सुरक्षा को लेकर लंबी लड़ाई मिला कुछ नहीं

जानकारी के मुताबिक साल 2008 में तत्कालीन एएसपी विधानसभा अरुण कुमार गुप्ता और मुख्य आरक्षी अधिकारी रतन प्रकाशन ने सचिवालय सुरक्षा दल के 229 पदों के अलावा 336 पद और मांगे थे। इन्हें विधान भवन, एनेक्सी, बापू भवन और विकास भवन की सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए अलग-अलग जिम्मेदारियां दी जानी थी। लेकिन इससे जुड़ी फाइल विभागों के चक्कर लगाती रही। आखिरकार सुरक्षा बढ़ाने के लिए सुरक्षा दल के पदों को बढ़ाने के नाम पर कुछ नहीं हुआ। पिछले साल फाइल डंप कर दी गई।

वर्तमान में सुरक्षा का हाल

जानकारी के मुताबिक वर्तमान समय में सचिवालय सुरक्षा दल में कुल 327 पद हैं। इसमें सुरक्षा अधिकारी के 2 पद, आएआई के 4 पद, मुख्य रक्षक के 62 पद, विधानसभा रक्षक के 244 पद हैं, जिसमें लोकभवन के 98 पद भी शामिल हैं। लेकिन अालम ये है कि इन 327 पदों पर भी 150 लोग ही उपलब्ध हैं। जबकि उपलब्ध रक्षक दल की संख्या केवल 106 ही है।

सीसीटीवी को लेकर भी बड़ी लापरवाही

सूत्रों के मुताबिक विधान सभा सचिवालय के अधिकार क्षेत्र में कुल 23 कैमरे ही हैं। पहले से कम संख्या में लगे कैमरों में 12 कैमरे ही ठीक से काम कर रहे हैं। लेकिन इनसे जुड़ी एक समस्या और है। इन कैमरों की फुटेज दिन में ही धुंधली दिखती है। वहीं रात में इनकी फुटेज से किसी को पहचानना काफी मुश्किल काम है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???