Patrika Hindi News

लड़कियों को ग्रेजुएशन तक निशुल्क शिक्षा देगी योगी सरकार, जानें बजट में युवाओं को क्या मिला

Updated: IST
योगी सरकार के वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने मंगलवार को 3.84 लाख करोड़ का बजट पेश क‍िया। इसमें 55,781 करोड़ रुपए की नई योजनाएं हैं।

लखनऊ. योगी सरकार के वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने मंगलवार को 3.84 लाख करोड़ का बजट पेश क‍िया। इसमें 55,781 करोड़ रुपए की नई योजनाएं हैं। व‍ित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने बजट पेश करते हुए कहा, ''गरीबी को खत्म करना हमारा लक्ष्य है। गरीबों, बेरोजगारों, किसानों के लिए हमारा बजट है। राज्य में गरीबी को खत्म करना हमारी प्राथमिकता है। जानें युवाओं को इस बजट में क्या मिला-

-दसवीं से ऊपर छात्रवृत्ति और शुल्क प्रतिपूर्ति के लिए 1 हज़ार 61 करोड़ का बजट।

-दसवीं तक के पिछड़े वर्ग के छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति मिलेगी,दसवीं तक छात्रवृत्ति के लिए 142 करोड़ का बजट।

-लड़कियों को स्नातक तक निशुल्क शिक्षा देगी सरकार, अहिल्याबाई निशुल्क शिक्षा योजना के लिए 21 करोड़ का बजट।

-स्कूलों मे बच्चो को जूता,मोजा,स्वेटर बांटने के लिए 300 करोड़,बच्चो को यूनिफॉर्म और किताबो के लिए 124 करोड़ का बजट।

-सिंगल विंडो क्लीयरेंस के लिए 10 करोड़ का बजट,स्कूलों में बच्चों को बैग बांटने के लिए 100 करोड़ का बजट।

-औद्योगिक निवेश एवं रोजगार प्रोत्साहन नीति 2017,रोजगार प्रोत्साहन के क्रियान्वयन लिए 20 करोड़ का बजट।

-कौशल विकास को बढ़ावा देना बजट मे शामिल,24 जनवरी UP दिवस मनाने की योजना,पूंजी निवेश योजना की नीति लागू की जा रही।

-अल्पसंख्यक छात्र छात्राओं को छात्रवृत्ति के लिए 791 करोड़ 83 लाख का बजट है।

-अल्पसंख्यक छात्रो के छात्रवृत्ति,शुल्क प्रतिपूर्ति के लिए 942 करोड़ का बजट।

-वाईफाई के लिए सरकारी, प्राइवेट डिग्री कॉलेज, विश्वविद्यालयों को 50 करोड़।

-औद्योगिक निवेश एवं रोजगार प्रोत्साहन नीति 2017,रोजगार प्रोत्साहन के क्रियान्वयन लिए 20 करोड़ का बजट-वित्त मंत्री

--लखनऊ यूनिवर्सिटी में भाऊराव देवरस शोध पीठ की स्थापना के लिए दो करोड़ा रुपये की व्यवस्था।

-यूनिवर्सिटीज में पंडित दीन दयाल उपाध्याय शोध पीठ की स्थापना के लिए नौ करोड़ रुपये की व्यवस्था।

-महाविद्यालयों व विश्वविद्यालयों को मान्यता प्रदान करने की ऑनलाइन व्यवस्था के लिए 50 लाख रुपये का प्राविधान।

- एजुकेशन पर सरकार ने काफी फोकस किया है। खासतौर पर लड़कियों को मुफ्त शिक्षा देने के फैसले का स्वागत करना चाहिए। कुल मिलाकर यह संतोषजनक बजट है। हालांकि किसानों को और ज्यादा उम्मीदें थीं लेकिन कुल मिलाकर सरकार ने सबका ध्यान रखा। (प्रो. एपी तिवारी, अर्थशास्त्री)

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???