Patrika Hindi News
Bhoot desktop

नोटबंदी के खिलाफ सपा ने किया प्रदर्शन, राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन एसडीएम को सौपा

Updated: IST Note Ban Protest
नोटबंदी को लेकर चल रही राजनीती के दौर में आज महोबा में भी सपा कार्यकर्ताओं ने तहसील परिसर में प्रदर्शन किया।

महोबा- नोटबंदी को लेकर चल रही राजनीती के दौर में आज महोबा में भी सपा कार्यकर्ताओं ने तहसील परिसर में प्रदर्शन किया। पूर्व राज्य मंत्री सिद्धगोपाल साहू के नेतृत्व में तक़रीबन एक सैकड़ा कार्यकर्ताओं ने नोटबंदी के खिलाफ विरोध जताया और महामहिम राज्यपाल संबोधित ज्ञापन एसडीएम सदर को सौपा। कार्यकर्ताओं ने पीएम मोदी विरोधी नारे भी लगाए। सपा का आरोप है कि पीएम मोदी गरीब विरोधी सरकार है और उद्योगपतियों को फायदा पहुँचाने के लिए काम कर रही है।नोटबंदी से हुई मौतों के लिए पीएम मोदी को सपाइयों ने जिम्मेदार ठहराया और उनके खिलाफ मुकदमा लिखे जाने की भी मांग की।

केंद्र सरकार द्वारा नोटबंदी के फरमान के बाद से सभी राजनैतिक दल विभिन्न तरीकों से अपना अपना विरोध जता रहे हैं।महोबा में बीते दिनों कोंग्रेस ने नोटबंदी के खिलाफ आक्रोश जताने के लिए सड़कों पर उतर कर विरोध किया था। आज सपा ने भी नोटबंदी की खिलाफत की और तहसील परिसर में प्रदर्शन किया। पूर्व मंत्री सिद्धगोपाल साहू और चरखारी विधायक प्रतिनिधि कप्तान सिंह राजपूत के नेतृत्व में एक सैकड़ा सपाई विरोध प्रदर्शन में शामिल हुए। सपाइयों ने पीएम मोदी और केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। और तख्तियोंं में पीएम विरोधी नारे लिखकर भी अपना विरोध जताया। तख्तियों में लिखा गया कि पीएम मोदी काले धन के मालिक हैं और काला धन लाने का दिखावा कर रहे हैं। दोनों नेताओं की जूदगी में सपाईयों ने महामहिम राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन एसडीएम सदर प्रबुद्ध कुमार को सौपा। सपाइयों का आरोप है कि पीएम मोदी और उनकी सरकार गरीब विरोधी है। काले धन को रोकने के नाम पर जनता को लाइन में लगा दिया।

नोटबंदी का निर्णय भी गलत है और अब व्यवस्थाएं भी सही नहीं है, जिससे आम आदमी को बड़ी दिक्कतें हो रही हैं। इस मौके पर पूर्व मंत्री सिद्धगोपाल साहू ने कहा कि सपा जनता के साथ है और केंद्र सरकार ने बिना तैयारी के नोटबंदी कर दी।नोटबंदी का बहाना है, काले धन वालों के ऊपर पीएम मोदी का हाथ है। वहीँ पूर्व विधायक कप्तान सिंह राजपूत ने कहा कि नोटबंदी के फैसले का सपा पुरजोर विरोध कर रही है और आगे भी करेगी। इस नोटबंदी से 78 आम लोगों की जान चली गई। इसके लिए पीएम मोदी जिम्मेदार हैं। इनके खिलाफ मुकदमा लिखकर दण्डनात्मक कार्यवाही होनी चाहिए।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???