Patrika Hindi News

परीक्षा नजदीक, विभाग भूला इमरजेंसी नंबर

Updated: IST Demo
गतवर्ष सुसाइड करने के प्रयास से लेकर घर छोडऩे के मामले आए थे सामने

रतलाम/मंदसौर.

छात्रों की सुविधा के लिए परीक्षा आते ही शिक्षा विभाग द्वारा कंट्रोल रूम के नंबर जारी किए जाते है। लेकिन इस बार परीक्षा परिणाम घोषित होने के बाद भी शिक्षाअधिकारियों ने कंट्रोल रूम के नंबर जारी नहीं किए है। जबकि गत वर्ष कई मामले जिसमें विद्यार्थियों ने आत्महत्या के प्रयास से लेकर घर छोड़ कर चले सामने आए थे। शिक्षा अधिकारियों के मुताबिक अभी तक कंट्रोल रूम के नंबर नहीं आने के कारण जारी नहीं किए गए है।

तीन बच्चियां चली गई थी घर छोड़कर

हाल में ही तीन बच्चियों के गणित में कम नंबर आने के कारण घर छोड़कर बस में बैठकर नीमच चली गई थी। वहां पर तीनों को रिश्तेदार थाने ले कर गया था। और वहां पर परिजनों के सुर्पद किया था। गत वर्ष एक छात्रा के बोर्ड परीक्षा में कम नंबर आने के कारण शिवना पुलिया से नीचे कूद गई थी। जिसे गंभीर हालत में जिला अस्पताल में भर्ती किया गया था। वहीं चार बच्चे ट्रेन से कम नंबर आने के कारण घर छोड़कर ट्रेन से चले गए थे। उन बच्चों की अजमेर में लोकेशन ट्रेस हुई थी। वहां से बच्चे फिर ट्रेन से मंदसौर लौटे थे।

कमजोर विद्यार्थियों के लिए अतिरिक्त कक्षाएं

शिक्षा विभाग से मिली जानकारी के अनुसार विभाग द्वारा बोर्ड परीक्षाओं से पहले कमजोर विद्यार्थियों का चयन कर लिया गया है। उन विद्यार्थियों को अतिरिक्त कक्षाओं के माध्यम से पढ़ाया जा रहा है। इसके साथ ही विभाग द्वारा ऐसे विधियां अपनाई जा रही है जिससे की विद्यार्थियों को आसानी से समझ आ सके। इसके लिए बकायदा शिक्षकों को प्रशिक्षण दिया गया है। शिक्षाअधिकारियों के मुताबिक समय-समय पर स्कूलों का निरीक्षण एवं टेलीफोन से स्कूलों की जानकारी ली जा रही है। जहां समस्या आ रही वहां पर निदान किया जा रहा है।

इनका कहना...

अभी कंट्रोल रूम के नंबर नहीं आए है। जैसे ही आएंगे जारी कर दिए जाएंगे।

लोकेंद्र डाबी, सहायक परियोजना समन्वयक।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???