Patrika Hindi News

बाज़ार धड़ाम, सेंसेक्स 222 अंक और निफ्टी 77 अंक लुढ़का

Updated: IST sensex and nifty falls
शेयर बाजारों में लगातार तीन दिन से जारी तेजी के रिकॉर्ड पर अचानक ब्रेक लगा। देश के घरेलू मार्केट में गुरुवार को बड़ा झटका लगा। सेंसेक्स शुरुआती कारोबार में 222 अंक गिर गया और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 9,500 अंक से नीचे पहुंच गया।

मुंबई: शेयर बाजारों में लगातार तीन दिन से जारी तेजी के रिकॉर्ड पर अचानक ब्रेक लगा। देश के घरेलू मार्केट में गुरुवार को बड़ा झटका लगा। सेंसेक्स शुरुआती कारोबार में 222 अंक गिर गया और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 9,500 अंक से नीचे पहुंच गया। डॉलर निकासी बढ़ने और विदेशी शेयर बाजारों में नरमी के रख से यहां भी गिरावट रही।

बैंक और ऑटोमोबाइल सेक्टर में गिरावट
शेयर बाजारों में कारोबार के शुरुआती दौर में टिकाऊ उपभोक्ता वस्तुओं, बैंक और आटोमोबाइल क्षेत्र के समूह सूचकांक में 1.19 प्रतिशत तक की गिरावट देखी गई। बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों पर आधारित सेंसेक्स 222.21 अंक यानी 0.72 अंक लुढ़ककर 30,436.56 अंक पर पहुंच गया। सेंसेक्स बुधवार को अब तक के नये उच्चस्तर 30,658.77 अंक पर बंद हुआ था जबकि इससे पहले यह कारोबार के दौरान 30,692.45 अंक की ऊंचाई को छू चुका था। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी रिकार्ड ऊंचाई से नीचे 77 अंक यानी 0.80 प्रतिशत गिरकर 9,448.75 अंक पर आ गया। कल यह 9,525.75 अंक की सर्वकालिक नई ऊंचाई पर बंद हुआ था।

470 अंक तेजी दर्ज की गई
पिछले तीन दिन के दौरान सेंसेक्स में कुल 470.62 अंक की तेजी दर्ज की गई है। इस दौरान विदेशी निवेश प्रवाह जारी रहने और मानसून की वर्षा सामान्य से बेहतर रहने की संभावनाओं से लिवाली का जोर रहा।

कमजोर ग्लोबल संकेतों का असर
कमजोर ग्लोबल संकेतों और एशिया बाज़ारों में नरमी के चलते घरेलू स्टॉक मार्केट में तीन दिनों से जारी तेजी पर ब्रेक लग गया। जापान का निक्केई सूचकांक शुरआती कारोबार में 1.44 प्रतिशत नीचे रहा जबकि हांग कांग का हेंग सेंग 0.25 प्रतिशत गिर गया। शंघाई कंपोजिट सूचकांक 0.06 प्रतिशत नीचे रहा. अमरीका का डाउ जोंस इंडस्ट्रियल एवरेज सूचकांक कल 1.78 प्रतिशत घटकर बंद हुआ। पिछले आठ महीने में इसमें एक दिन की यह सबसे बड़ी गिरावट थी।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???