Patrika Hindi News
UP Scam

बसपा प्रत्‍याशी ने तोड़ा कानून, केस दर्ज 

Updated: IST bsp
भाजपा की केंद्रीय मंत्री के कार्यक्रम को लेकर भी हो चुकी है भाजपा की फजीहत

मेरठ। सपा और भाजपा के बाद अब बसपा के प्रत्याशी भी खुलेआम आचार संहिता की धज्जियां उड़ा रहे हैं। मेरठ की कैंट विधानसभा सीट के बसपा प्रत्याशी सतेन्द्र सोलंकी पर बिना अनुमति के चुनाव की सभा करने के मामले में आचार संहिता उल्लंघन का मुकदमा दर्ज किया गया। वहीं, हस्तिनापुर विधानसभा सीट के बसपा प्रत्याशी योगेश वर्मा ने भी बिना अनुमति के ही अपने घर पर चुनावी बैठक बुलाई थी, जिसे मवाना पुलिस ने सूचना मिलते ही बन्द करा दिया और प्रत्याशी पर आचार संहिता उल्लंघन के मामले में मुकदमा दर्ज करा दिया।

दरअसल, थाना भावनपुर क्षेत्र में बसपा प्रत्याशी सतेन्द्र सोलंकी एक नुक्कड़ सभा कर रहे थे, जिसकी ना तो कोई परमीशन ली गई थी और ना ही कोई औपचारिक घोषणा की गई थी। पुलिस को जानकारी मिली, जिस पर थाना पुलिस ने मौके पर पहुंंच कर सभा को बंद करा दिया। इसके बाद इस मामले में दोनों ही प्रत्याशियों पर आचार संहिता उल्लंघन का मुकदमा दर्ज किया गया। इससे पहले भाजपा की केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के कार्यक्रम को लेकर भी भाजपा की फजीहत हो चुकी है, जिसमें भाजपा के महानगर उपाध्यक्ष पर मुकदमा दर्ज हुआ है। साथ ही समाजवादी पार्टी के कद्दावर मंत्री शाहिद मंजूर पर भी आचार संहिता उल्लंघन का मुकदमा दर्ज हो चुका है।

बसपा प्रत्‍याशी ने सपा और बसपा पा बोला हमला

इस मामले में एसपी देहात श्रवण सिंह ने कहा कि प्रदेश में चुनाव आचार संहिता लागू है और जो भी उसका उल्‍लंघन करेगा, उसके खिलाफ कार्रवाई होगी। इसकी भी रिपोर्ट भारतीय निर्वाचन आयोग को भेजी गई है। वहीं, सभा में बसपा प्रत्‍याशी योगेश वर्मा ने पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए उन पर तंज कसा। उन्‍होंने कहा, खजानों को वो रद्दी समझकर बेच डालेगा, वो चंदन को अगरबत्‍ती समझकर बेच डालेगा और हुकूमत हमने चाय बेेचने वाले के हाथ में देेदी, वो भारत को चाय की पत्‍ती समझकर बेच डालेगा। साथ ही उन्‍होंने सपा पर भी हमला बोला। उन्‍होंने कहा कि परिवार के लोग आपस में ही लड़ रहे हैं। चारों तरफ अपराध हो रहे हैं। एक दिन ऐसा आएगा कि जनता उसे उखाड़ फेंकेगी।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???