Patrika Hindi News

> > > 78 chinese came india by bogus documents CBI launched probe

फर्जी दस्तावेज से भारत आए थे 78 चीनी, सीबीआई ने जांच शुरू की

Updated: IST chinese fraud visa
दो साल पहलेदिल्ली के एक अंतरराष्ट्रीय मेडिकल कॉनक्लेव में हिस्सा लिया था।

नई दिल्ली. चीन के 78 नागरिकों ने फर्जी दस्तावेजों के आधार पर दिल्ली के एक अंतरराष्ट्रीय मेडिकल कॉनक्लेव में हिस्सा लिया। अहम बात यह है कि गृह मंत्रालय के एक फर्जी पत्र के जरिए इन्हें वीजा दिया गया था। पत्र किसने तैयार किया और कैसे जारी हुआ, सीबीआई ने इसकी जांच शुरू कर दी है। मामला साल 2014 का है।

दो साल बाद एफअाईअार हुई दर्ज

पत्र में मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी के फर्जी हस्ताक्षर थे। इस अधिकारी ने अब एफआईआर दर्ज कराई है। दरअसल, कॉनक्लेव साल 2014 में 28 अक्तबूर से एक नवंबर तक चला था। आयोजनकर्ता डॉ. मोहन नायर ने गृह मंत्रालय से सिक्यूरिटी क्लियरंस मांगी थी। 28 अगस्त को मोहन नायर की ओर से आवेदन किया गया था। मंत्रालय ने आयोजन की अनुमति दे दी थी। इसके बाद आयोजनकर्ताओं की ओर से चीनी लोगों के इसमें भाग लेने के लिए वीजा मांगा गया था। मामला बीजिंग स्थित भारतीय दूतावास को भेजा गया था। कुछ दिन बाद मंत्रालय को दूतावास से एक ई-मेल मिला। इसमें बताया गया कि 43 चीनी नागरिकों को भारत आने के लिए वीजा दे दिया गया है। इसके दो दिन बाद बीजिंग स्थित भारतीय दूतावास को गृह मंत्रालय के नाम से एक पत्र मिला। इसमें बताया गया कि इस तरह के कॉनक्लेव के लिए सिक्योरिटी क्लियरिंस की जरूरत नहीं है। अब मालूम चला है कि यह पत्र फर्जी था।

इंटरनेशनल इवेंट के लिए अनुमति जरूरी

बता दें कि इस तरह के इंटरनेशनल इवेंट के लिए सरकार की अनुमति लेनी जरूरी है। आयोजनकर्ता को सरकार को बताना होता है कि इसमें किस देश से कौन भाग लेना चाहता? सरकार सुरक्षा को देखते हुए और विदेशी लोगों का बैकग्राउंड देखने के बाद वीजा करती है। बहरहाल, अब दो साल बाद बीजिंग स्थित भारतयी दूतावास ने गृह मंत्रालय को एक ई-मेल भेजा है। यह ई-मेल चीनी लोगों के वीजा की मांग के लिए दूतावास को किया गया था। दिल्ली की ओखला स्थित एक कंपनी की ओर से मेल किया गया लेकिन कंपनी का कहना है कि उसके कई एजेंट्स से संपर्क है इसलिए वो मेल का दावा नहीं कर सकते। इस बीच इस पत्र की जांच की जा रही है। पता किया जा रहा है कि कैसे और किसके सिस्टम टाइप करने के बाद भेजा गया था।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे