Patrika Hindi News

चार्टर्ड विमानों से पुराने नोट ले जाने पर नपेंगे पायलट, ऑपरेटर

Updated: IST Banned Notes
डीजीसीए ने कहा, सभी नॉन शिड्यूल्ड ऑपरेटर तथा निजी विमान ऑपरेटरों को विमान सुरक्षा आदेश का कठोरता पूर्वक पालन करने का निर्देश दिया जाता है

नई दिल्ली। प्रतिबंधित पुराने नोटों को देश के एक कोने से दूसरे कोने में ले जाने के लिए चार्टर्ड विमानों के इस्तेमाल की बात सामने आने के बाद नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने ऐसे ऑपरेटरों तथा पायलटों पर भी कार्रवाई की चेतावनी दी है। डीजीसीए ने मंगलवार को जारी एक सर्कुलर में कहा, ऐसी जानकारी मिली है कि कुछ नॉन शिड्यूल्ड ऑपरेटरों का इस्तेमाल प्रतिबंधित नोटों को देश के एक हिस्से से दूसरे हिस्से तक ले जाने के लिए किया जा रहा है, विशेष कर ऐसी हवाई पट्टियों से जहां यात्रियों के सामान के स्क्रीनिंग की सुविधा नहीं है।

सर्कुलर के अनुसार, वर्ष 2010 के विमानन सुरक्षा आदेश के तहत किसी भी नॉन ऑपरेशन क्षेत्र या स्क्रीनिंग की सुविधा रहित हवाई अड्डों/हवाई पट्टियों से उड़ान भरने या वहां उतरने के लिए जिला पुलिस अधीक्षक से अनापत्ति प्रमाणपत्र लेना जरूरी है। ऐसी जगहों पर 10 या उससे कम सीट वाले विमानों हेलीकॉप्टरों की उड़ान से पहले यात्रियों के सामान की जांच की जिम्मेदारी पायलट इन-चार्ज की होगी।

डीजीसीए ने कहा, सभी नॉन शिड्यूल्ड ऑपरेटर तथा निजी विमान ऑपरेटरों को विमान सुरक्षा आदेश का कठोरता पूर्वक पालन करने का निर्देश दिया जाता है। ऐसा नहीं करने पर पायलट तथा ऑपरेटर दोनों के खिलाफ समुचित कार्रवाई की जाएगी। उल्लेखनीय है कि खुफिया जानकारी के आधार पर नगालैंड के दिमारपुर में एक निजी चार्टर्ड विमान से उतरे एक व्यक्ति के पास से 3.5 करोड़ रुपए मूल्य के पुराने नोट बरामद किए गए थे। विमान ने हरियाणा के हिसार से उड़ान भरी थी। इसके कुछ दिन बाद ही एक अन्य घटना में कोलकाता से दिमारपुर गए एक व्यक्ति के पास से पांच लाख रुपए मूल्य के पुराने नोट बरामद किए गए थे।

नोटबंदी अब स्वैच्छिक आय घोषणा योजना : आप

आम आदमी पार्टी (आप) ने मंगलवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नोटबंदी की नाकामी को छिपाने के लिए हर दूसरे दिन एक नया फरमान जारी कर रहे हैं और नोटबंदी अब 'स्वैच्छिक आय घोषणा योजनाÓ बन चुकी है। आप नेता दिलीप पांडे ने कहा कि पहले दलाल काले धन को सफेद करने के लिए दलाली लेते थे, लेकिन अब सरकार ने आय घोषणा योजना शुरू की है, जिसके तहत काला धन जमा करने वाले 50 प्रतिशत दलाली देकर कानूनी रूप से अपना पैसा बदलवा सकते हैं।

आप नेता आशुतोष ने भाजपा सांसदों और विधायकों को आठ नवंबर और 31 दिसंबर के बीच के अपने बैंक के लेनदेन का ब्योरा भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को देने के मोदी के आदेश को लेकर निशाना साधा।

आप नेता ने कहा, यह सबसे बड़ा स्वांग है, जिसकी कोई कल्पना भी नहीं कर सकता। अगर भाजपा गंभीर है, तो उन्हें अपने लेनदेन का ब्योरा सार्वजनिक करना चाहिए और उसे आयकर विभाग को देना चाहिए। उन्हें अमित शाह को देने का क्या मतलब है?

आशुतोष ने मीडिया से यह भी कहा कि भाजपा सांसदों और विधायकों को आठ नवंबर से पहले के अपने लेनदेन का ब्योरा भी सार्वजनिक करना चाहिए, क्योंकि उन्हें नोटबंदी के कदम की जानकारी थी और वे अपने काले धन को ठिकाने लगा चुके हैं।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???