Patrika Hindi News

> > > Dana Majhi Did Not Seek Help to Take Wife’s Body: Odisha Government

दाना मांझी ने पत्नी के शव के लिए नहीं मांगी थी मदद- ओडिशा सरकार

Updated: IST Dana Manjhi
दाना मांझी ने रात में अस्पताल के किसी भी कर्मचारी से किसी तरह की मदद या शव को ले जाने के लिए वाहन की मांग नहीं की थी।

भुवनेश्व। ओडिशा सरकार ने दाना मांझी के उस दावे को खारिज किया है, जिसके मुताबिक राज्य के कालाहांडी जिले में पत्नी का शव अस्पताल से अपने गांव ले जाने के लिए उसे शववाहन या एंबुलेंस नहीं मिला था।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी की रिपोर्ट में कहा गया है, कि दाना मांझी की पत्नी को जिस वार्ड में रखा गया था, उसके आसपास के मरीजों, उनके तीमारदारों का कहना है कि वे जब रात में सो रहे थे तभी दाना मांझी अपने मरीज को लेकर चले गए।

रिपोर्ट के मुताबिक, मरीज को मृत घोषित नहीं किया गया था। स्वास्थ्य मंत्री अतानु सब्यसाची नायक ने शुक्रवार को विधानसभा में कांग्रेस विधायक प्रफुल्ल मांझी के सवाल के लिखित जवाब में रिपोर्ट सदन के पटल पर रखी।

रिपोर्ट के मुताबिक, कि दाना मांझी ने रात में अस्पताल के किसी भी कर्मचारी से किसी तरह की मदद या शव को ले जाने के लिए वाहन की मांग नहीं की थी। गरीब मरीजों की स्थिति में संपर्क किए जाने पर परिवहन की व्यवस्था सीएमआरएफ/आरकेएस या रेड क्रॉस फंड द्वारा की जाती है। लेकिन दाना मांझी ने न तो खुद, न ही किसी अन्य ने उनकी ओर से शव वाहन या किसी अन्य सहायता की मांग अस्पताल के कर्मचारियों से की।

सरकार ने इस मामले में अस्पताल प्रशासन को सूचित नहीं किए जाने को लेकर हालांकि एक अस्पताल नर्स राजेंद्र राणा को बर्खास्त कर चुकी है और सिक्योरिटी एजेंसी को भी हटा दिया है। दाना मांझी अपनी पत्नी का शव कंधे पर उठाकर 10 किलोमीटर पैदल चले थे। अगस्त की यह घटना अंतर्राष्ट्रीय मीडिया की सुर्खियों में रही। इस घटना के बाद कई संगठनों ने मांझी को मदद की पेशकश की।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे