Patrika Hindi News

> > > Delhi high court quashed the ban on 344 medicines

अब VICKS 500 और D-COLD दवाइयां बाजार में मिलेंगी, 344 दवाओं से बैन हटा

Updated: IST Delhi high court ban medicines
दिल्ली हाईकोर्ट ने सरकार के फैसले को रद्द कर बैन हटाया। दवा कंपनियों की याचिका पर कोर्ट ने फैसला सुनाया।

नई दिल्ली.डी-कोल्ड, कोरेक्स कफ सिरप और विक्स एक्शन 500 जैसी खांसी जुकाम बुखार की निश्चित खुराक वाली 344 दवाओं पर लगे प्रतिबंध को दिल्‍ली हाईकोर्ट ने रद्द कर दिया है। इन दवाओं पर केंद्र सरकार ने रोक लगाई थी। कोर्ट ने कहा कि इन दवाइयों से स्वास्थ्य पर गलत असर पड़ रहा है या नहीं, इस संबंध में सरकार कोई क्लिनिक परीक्षण रिपेार्ट पेश नहीं कर पाई है। ये फैसला मनमाना है।

दवा कंपनियों ने बैन को दी थी चुनौती

मार्च माह में यह बैन लगाया गया था। इसके बाद ग्लेनमार्क, फाइजर सहित सैकड़ों दावा कंपनियों ने सरकार के इस फैसले को हाईकोर्ट में चुनोती थी। सरकार ने पिछले साल यह कहते हुए इन दवाओं के उत्पादन और बिक्री पर रोक लगा दी थी की इनसे मरीजों पर बुरा असर पड़ रहा है। हालांकि सरकार ने कहा था कि इन दवाओं के प्रतिबंध एक्सपर्ट की राय के बाद लिया गया है। हाइकोर्ट ने केंद्र की दलीलों को ठुकराते हुए कहा है कि सरकार ने 344 दवाओं पर प्रतिबन्ध लगाने के लिए नियमों की अनदेखी की है।

454 याचिकाएं दायर हुई थीं

सरकर के इस फैसले के खिलाफ 454 याचिकाएं हाईकोर्ट में दाखिल की गई थीं। याचिका में सरकार के फैसले को मनमाना बताते हुए रद्द करने की मांग की गयी थी। कंपनियों ने कहा था कि इसके लिए तय मानकों का पालन नहीं किया गया है।

इन खास दवाओं को किया था प्रतिबंधित

डी कोल्ड टोटल, कोरेक्स कफ सिरप, विक्स एक्शन 500, क्रोसिन कोल्ड एंड फ्लू, डीकोल्ड टोटल, ओफलोक्स, डोलो कोल्ड, चेरीकोफ, विक्स एक्शन 500, डीकोफ, सूमो, कफनील, पैडियाट्रिक सिरप टी 98, टेडीकॉफ जैसी 344 एफडीएस दवाओं को प्रतिबंधित किया गया था। इसके बाद से ही ये दवाएं बाजार में नहीं बिक रही थीं। अब कोर्ट के आदेश के बाद दवाइयां जल्द बाजार में मिलने लगेंगी।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???