Patrika Hindi News

दिसम्बर में निर्यात 6 फीसदी बढ़ा, घट गया व्यापार घाटा

Updated: IST indian exports
वाणिज्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक साल 2016 के नवंबर में निर्यात में 2.29 फीसदी तेजी देखने को मिली थी, लेकिन अक्टूबर में इसमें 9.59 फीसदी की गिरावट आई थी।

नई दिल्ली। देश के निर्यात में पिछले साल लगातार गिरावट के बाद दिसम्बर में तेजी देखने को मिली। शुक्रवार को आधिकारिक आंकड़ों से पता चला कि यह साल 2015 के समान महीने की तुलना में 5.72 फीसदी बढ़कर 23.9 अरब डॉलर रहा। साल 2015 के दिसम्बर महीने में 22.59 अरब डॉलर का निर्यात किया गया था। वाणिज्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक साल 2016 के नवंबर में निर्यात में 2.29 फीसदी तेजी देखने को मिली थी, लेकिन अक्टूबर में इसमें 9.59 फीसदी की गिरावट आई थी।

अप्रैल-दिसंबर 2016 की अवधि में कुल मिलाकर निर्यात में डॉलर के संदर्भ में 0.75 फीसदी की मामूली वृद्धि देखने को मिली थी और यह 198.8 अरब डॉलर रहा था, जबकि इससे पिछले साल समान अवधि में निर्यात 197.3 अरब डॉलर रहा था। सरकार ने बताया कि विश्व व्यापार संगठन के आंकड़ों के मुताबिक अक्टूबर 2016 में पिछले साल की समान अवधि की तुलना में अमेरिका को निर्यात में 1.21 फीसदी, चीन को 7.45 फीसदी और यूरोपीय संघ को 6.27 फीसदी की कमी देखी गई। लेकिन, दूसरी तरफ जापान को किए जानेवाले निर्यात में 3.79 फीसदी वृद्धि देखी गई।

सरकार द्वारा जारी बयान में कहा गया, 'गैर पेट्रोलियम पदार्थों का निर्यात दिसम्बर 2016 में 2.2 फीसदी बढ़कर 21.12 अरब डॉलर रहा, जबकि दिसम्बर 2015 में यह 20.03 अरब डॉलर था। इसी महीने में आयात में 0.46 फीसदी की वृद्धि हुई और यह 34.25 अरब डॉलर रहा, जबकि दिसम्बर 2015 में यह 34.10 अरब डॉलर था। इसके फलस्वरूप दिसम्बर में व्यापार घाटे में गिरावट आई और यह 10.37 अरब डॉलर रहा। जबकि साल 2015 के समान महीने में यह 11.50 अरब डॉलर था।

अप्रैल-दिसम्बर 2016 में 275.4 अरब डॉलर से अधिक का आयात किया गया, जो साल 2015 की समान अवधि में 297.4 अरब डॉलर के आयात की तुलना में 7.42 फीसदी कम है। वैश्विक तेल की कीमतों के 50 डॉलर प्रति बैरल पर वापस चढऩे के साथ, भारत ने दिसम्बर 2016 में 7.65 अरब डॉलर का कच्चा तेल आयात किया, जोकि साल 2015 के इसी महीने में किए गए 6.67 अरब डॉलर के आयात की तुलना में 14.61 फीसदी अधिक है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???