Patrika Hindi News

नेशनल हेराल्ड केस की सुनवाई कर रहे जज नहीं लेते छुट्टी

Updated: IST national herald
सात साल के न्यायिक अनुभव वाले लवलीन को सबसे समर्पित युवा जज माना जाता है

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी नेशनल हेराल्ड मामले में पटियाला हाउस परिसर स्थित मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट कोर्ट में जज एमएम लवलीन के सामने पेश होंगे। सात साल के न्यायिक अनुभव वाले लवलीन को सबसे समर्पित युवा जज माना जाता है। मूल रूप से हरियाणा के रहने वाले लवलीन हरियाणा में भी जज के रूप में काम कर चुके हैं।

हरियाणा में भी वे मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट के तौर पर नियुक्त थे और आपराधिक मामलों को देखते थे। उनके बारे में कहा जाता है कि वह बहुत कम छुट्टी लेते हैं और अपने अच्छे बर्ताव के चलते लोकप्रिय हैं। वे अपने सहयोगी जजों व वरिष्ठ जजों के साथ ही वकीलों में भी शिष्ट व्यवहार के लिए मशहूर हैं। पटियाला हाउस कोर्ट में उनकी नियुक्ति एक अक्टूबर को हुई थी। इससे पहले वे दो साल तक साकेत जिला अदालत में तैनात थे।

जज गोमी मनोचा का तबादला होने के बाद उन्हें नेशनल हेराल्ड केस मिला। पिछली सुनवाई पर उन्होंने सोनिया गांधी व राहुल गांधी को 19 दिसंबर को कोर्ट में पेश होने को कहा था। उन्होंने केस का पूरा ब्यौरा पढऩे के बाद यह आदेश दिया था।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???