Patrika Hindi News

> > > Railway: General ticket would be booked cashless on counter

12 हजार रेलवे काउंटर कैशलेस बनेंगे, जनरल टिकट की बुकिंग भी कैशलेस

Updated: IST cashless ticket counter in railway
डेबिट व क्रेडिट कार्ड से मिलेगा टिकट। छह माह में होगा काम पूरा। बैंकों के साथ करार।

नई दिल्ली. कैशलेस इकॉनमी को बढ़ावा देने के लिए रेलवे अगले छह महीने में 12 हजार टिकट काउंटर को कैशलेस बनाने जा रहा है। काउंटरों पर 15,000 प्वाइंट ऑफ सेल (पीओएस) मशीनें लगाई जाएंगी। कैश से टिकट नहीं मिलेगा। केवल डेबिट व क्रेडिट कार्ड से टिकट मिलेगा या फिर बुकिंग होगी। इससे खुल्ले पैसों की दिक्कतें भी दूर होंगी।

15,000 प्वाइंट ऑफ सेल (पीओएस) मशीनें लगेंगी

रेलने ने इसके लिए आईसीआईसीआई समेत अन्य बैंकों से करार किया है। बैंकों को रेल काउंटर्स के लिए 15,000 प्वाइंट ऑफ सेल (पीओएस) मशीनें उपलब्ध कराने के लिए कहा गया है। लगभग 1,000 मशीनें 31 दिसंबर तक मिल जाएंगी। अभी रेलवे के टिकट काउंटर्स पर डेबिट और क्रेडिट कार्ड पेमेंट के लिए पीओएस सर्विस नहीं है।

वक्त बचेगा, काम का बोझ घटेगा

रेल बोर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी कहते हैं कि हमारे पास करीब 12,000 टिकट काउंटर हैं। इनमें से सभी को एक या अधिक पीओएस मशीनों से लैस किया जाएगा। पहले चरण में सभी शहरी इलाकों में मशीनें उपलब्ध कराई जाएंगी। बता दें कि कर्मचारियों के लिए भी बड़ी मात्रा में कैश को मैनेज करना मुश्किल होता है। पर्याप्त संख्या में स्वाइप मशीनें उपलब्ध होने पर कर्मचारियों पर से काम का बोझ कम होगा।

वेंडर्स को कैशलेस पेमेंट

रेल मंत्रालय की योजना अपने वेंडर्स और कॉन्टै्रक्ट्र्स को भी कैशलेस पेमेंट करने की है। रेलवे बोर्ड के चेयरमैन की ओर से जल्द ही नोटिफिकेशन जारी कर यह निर्देश दिया जाएगा। रेलवे के सभी जोनल और डिविजनल ऑफिस खर्चों के लिए कैशलेस पेमेंट करने के लिए कहा जाएगा। रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने पहले ही अपने अधिकारियों को निर्देश दे दिया है कि वे रेलवे को पहला कैशलेस बनाने में जुट जाएं।

सर्विस चार्ज नहीं लगेगा

आईआरसीटीसी के जरिये रेल टिकटों की ऑनलाइन बुकिंग पर सर्विस चार्ज 31 दिसंबर तक समाप्त कर दिया गया है। इससे ऑनलाइन टिकट बुकिंग को प्रोत्साहन मिलेगा। मंत्रालय ने एसी टिकट की ऑनलाइन बुकिंग पर 40 रुपये और नॉन एसी टिकट की बुकिंग पर 20 रुपये का सर्विस चार्ज स्थायी रूप से समाप्त करने का प्रस्ताव तैयार किया है। रेलवे ने आईआरसीटीसी से राजस्व हासिल करने के अन्य तरीकों पर विचार करने के लिए कहा है क्योंकि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी चाहते हैं कि ऑनलाइन बुकिंग पर कोई चार्ज नहीं लिया जाए।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???